निर्माण कार्यों में लापरवाही पर डीएम ने लगाई फटकार

डीएम ने तय समय पर काम पूरा करने का दिया निर

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जिलाधिकारी राजशेखर की समीक्षा बैठक में राजधानी में होने वाले दर्जनों निर्माण कार्यों की हकीकत सामने आई। इसमें 50 लाख से अधिक लागत की विभिन्न इकाइयों की समीक्षा में कार्यदायी संस्थाओं की लापरवाही का मामला उजागर हुआ, जिसको गंभीरता से लेकर जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों को जमकर फटकार लगार्ई। इसके साथ ही तय समय में निर्माण कार्य पूरा करने और लंबित मामलों का संबंधित अधिकारियों से संपर्क कर निस्तारण करवाने का निर्देश दिया है।
जिलाधिकारी के मुताबिक निर्माण इकाइयों में काम की धीमी गति निराशाजनक है। जिले में कई जगहों पर निर्माण कार्य अधूरे पड़े हैं। इसमें कहीं धन की कमी है, तो कहीं भूमि उपलब्ध नहीं हो पाई है, इसलिए कार्यदायी संस्थाओं को काम की गुणवत्ता का ध्यान रखने और तय समय पर काम पूरा करने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा कि जहां पर धन की वजह से कार्य रुका हुआ है वहां पर प्रशासनिक विभाग को पत्र जारी कर धन लिया जा सकता है। इसके अलावा जहां भूमि विवाद के चलते कार्य बाधित है वहां संबंधित उप जिलाधिकारी के माध्यम से मामले का निस्तारण करवाकर शीघ्र कार्य पूर्ण कराया जायेगा। समीक्षा बैठक के दौरान निर्माण इकाई-10 की समीक्षा की गई, जिसमें इकाई की कुल छ: परियोजनाओं का लेखा-जोखा और काम का ब्यौरा जांचा गया। इसकी एक परियोजना केजीएमयू में ट्रामा सेन्टर बनाने का कार्य मार्च 2016 में पूर्ण होने की उम्मीद है।
इसके अलावा दो कार्यों के पूरा होने का समय बीत चुका है। कार्यदायी संस्था के प्रस्तावों के आधार पर दिसंबर तक काम पूरा कराने का आदेश दिया गया है। इसके अलावा अन्य परियोजनाओं में भी काम चल रहा है, जो समय से पूरा हो जाने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि राजकीय निर्माण निगम इकाई-21 की समीक्षा में कुल 11 परियोजनाओं पर काम होने का मामला सामने आया।

Pin It