निजामी बंधुओं की कव्वाली पर झूमे श्रोता

  • स्थानीय कलाकारों ने मोहा मन कथक की प्रस्तुति रही शानदार

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। लखनऊ महोत्सव में कला के विभिन्न रूप देख दर्शक झूम उठे। कलाकारों ने फिल्मी गीतों, शास्त्रीय संगीत, लोक गीत और नृत्य की प्रस्तुति से दर्शकों की तालियां बटोरीं। मशहूर कव्वाल निजामी बंधुओं की कव्वालियों ने लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया। निजामी ब्रदर्स ने सूफियाना अंदाज में इसकी शुरूआत की। देर रात तक कव्वाली का दौर चलता रहा।
निजामी बंधुओं ने लोगों के फरमाइश पर प्रस्तुति देकर लोगों का मन मोह लिया। वंदना मिश्रा ने अवधी गीतों की प्रस्तुति देकर वाहवाही लूटी। महोत्सव में भारत तिब्बत सीमांत सुरक्षा बल के ब्रास व पाइप बैंड के जवानों ने देशभक्ति व पुराने गीतों की प्रस्तुति दी। गुजरात से रवि भाई की रंगबिरंगी कठपुलियों ने भी दर्शकों को मोहित किया। गजल गायक कमलाकांत ने अपनी गजलों की प्रस्तुति दी और दर्शकों की तालियां बटोरीं। स्थानीय कलाकारों में प्रेरणा राणा ग्रुप ने कथक की शानदार प्रस्तुति दी।
मौत के कुएं के खेल पर रोक
महोत्सव में खतरनाक खेल मौत का कुंआ को प्रस्तुत करने की तैयारी होने की खबर पर प्रशासन हरकत में आ गया। मंडलायुक्त भुवनेश कुमार ने महोत्सव समिति से इस खेल पर रोक लगाने के आदेश दिए हैं। महोत्सव में इस खेल पर पांच साल पहले से रोक लगी हुई है। इसके बावजूद बगैर अनुमति के इस खेल को फिर दिखाने की तैयारी चल रही थी।

Pin It