निगम में खेल, छोटे नोटों से बदले जा रहे हैं 500 व 1000 के नोट

  • गृहकर में जमा किये जा रहे फुटकर नोट हो रहे गायब, राउंड फीगर में मांगा जा रहा भुगतान

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। सरकार की सख्ती के बावजूद लोग काले धन को सफेद करने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं। पुराने नोट हाउस टैक्स और बिजली बिलों के लिए मान्य हंै। नगर निगम की बात करें तो 500 और 1000 के पुराने नोटों के साथ हाउस टैक्स के रूप में 2000 और 100 के नोट जमा हो रहे हैं। लेकिन नगर निगम के टैक्स काउंटर पर ऐसे नोटों के पहुंचते ही उनको गायब कर दिया जा रहा है और बदले में पुराने 500 और 1000 के नोट रख दिये जा रहें हैं। 100 रुपये से छोटे नोटों के साथ भी यही खेल चल रहा है।
नगर निगम में टैक्स जमा करने के लिए ज्यादातर लोग बिल के हिसाब से रुपये लाते हैं। उदाहरण के लिए जैसे किसी का टैक्स 2800 है तो एक 2000 का नोट, एक 500 का और तीन 100 के नोट जमा करता है। ऐसे में जो 2000,100 और उससे छोटे नोट हैं उनकी जगह 500 और 1000 के नोट रख दिये जा रहे हैं। कुछ लोगों को छोटे नोट न होने की बात कहकर राउंड फीगर में पार्ट पेमेंट करने का सुझाव दिया जा रहा है। नगर निगम में लगातार हजारों बिलों का भुगतान पार्ट पेमेंट के रूप में किया गया है। सूत्रों के अनुसार नगर निगम के खजाने में केवल 500 और 1000 के ही नोट जमा किये जा रहे हैं। गौरतलब है कि नगर निगम में नोट बंदी के बाद लगभग 20 करोड़ से अधिक टैक्स जमा हो चुका है।

Pin It