निगम की सुस्त चाल से सफाईकर्मियों की भर्ती पर लगा ग्रहण

तीन माह में मात्र सवा लाख फार्मों की फीडिंग का काम हुआ पूरा
3200 सफाईकर्मियों की भर्ती के लिए निकाली गई थीं रिक्तियां
दिसंबर के पहले सप्ताह तक साक्षात्कार कराने की बात कह रहा नगर निगम

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

captureलखनऊ। नगर निगम की सुस्त चाल से जहां एक ओर सफाईकर्मियों की भर्ती अधर में लटकी नजर आ रही है। वहीं दूसरी ओर निगम प्रशासन इन पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा कराने का दम भर रहा है। जबकि 3200 सफाई कर्मियों की भर्ती के लिए करीब पांच से छह लाख फार्म आये हैं, जिसमें से तीन महीने का समय बीतने के बाद भी मात्र सवा लाख फार्मों की फीडिंग का काम ही पूरा हुआ है। शेष फार्म अभी भी बोरे में भरे हुए हैं। उधर 2017 के विधान सभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, जिससे सफाईकर्मियों की भर्ती पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। फिर भी नगर निगम जनवरी तक साक्षात्कार प्रक्रिया पूरी कराने की बात कह रहा है। इसके साथ ही जनवरी में रिजल्ट घोषित करने का दम भर रहा है। इस तरह दावों और हकीकत से बीच सफाईकर्मियों की भर्ती पारदर्शी ढंग हो पायेगी, इसको लेकर लोगों के मन में आशंका पैदा हो गई है।

अभ्यर्थियों से कराई जाएगी नाले की सफाई

नगर निगम एक लाख फार्मांें को फीड करा चुका है और अब वह प्रवेश पत्र देकर नवंबर के मध्य में साक्षात्कार कराने की बात कह रहा है। आवेदन करने वाले सभी अभ्यर्थियों से नगर निगम नाले की सफाई कराकर टेस्ट लेगा। इसके आधार पर ही नियुक्ति की जाएगी। पिछली सरकार के दौरान हुई संविदा सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लिए भी नाले की सफाई करवायी गयी थी। वहीं 3200 पदों के लिए करीब पांच से छह लाख आवेदन आएं हैं। इतनी भारी संख्या को देखते हुए यह परीक्षा कई महीने चलने की उम्मीद है।
मानदेय और नियमित कर्मचारियों का वेतनमान भी निर्धारित
संविदा सफाई कर्मचारी के पद पर होने वाली नियुक्तियां 15 हजार रुपये महीने के मानदेय पर होगी। वहीं नियमित कर्मचारियों को 20 हजार रुपये से अधिक वेतन मिलेगा। अधिकारियों का कहना है कि लाखों की संख्या में आये आवेदनों के बाद सिर्फ लिफाफा खोलने और उनकी सूची बनाने में 20 कर्मचारी लगाने पड़े हैं। अब एक लाख फार्मों की लिस्ट बन जाने के बाद साक्षात्कार प्रक्रिया को शुरू किया जा रहा है।
काल लेटर भेजने की तैयारी कर रहे अधिकारी
जनवरी माह तक साक्षात्कार प्रक्रिया चलती रहेगी और फिर रिजल्ट जारी करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। नगर आयुक्त उदयराज सिंह ने बताया कि सफाई कर्मियों के पदों को भरने के लिए साक्षात्कार की प्रक्रिया इस महीने के अंत तक शुरू हो सकेगी। उन्होंने बताया कि निजी एजेंसी के जरिए फार्म की फीडिंग की जा रही है। अब तक लगभग सवा लाख फार्म का डाटा फीड कर लिया गया है। इस महीने के आखिरी सप्ताह से प्रवेश पत्र भेजने पर विचार किया जा रहा है और दिसंबर के पहले सप्ताह से साक्षात्कार प्रक्रिया शुरू होगी। उन्होंने बताया कि एक तरफ फार्म की फीडिंग होती रहेगी और दूसरी तरफ प्रवेश पत्र भेजकर साक्षात्कार की प्रक्रिया चलती रहेगी।

कुछ इस तरह है सफाई कर्मियों की स्थिति

जोन नियमित संविदा कार्यदायी
1 1,254 53 197
2 472 80 159
3 453 316 186
4 व 7 264 338 520
5 व 8 138 244 561
6 392 157 571

नोट- कुल 6,355 सफाई कर्मी हैं। भर्ती प्रक्रिया पूरी होते ही सफाईकर्मियों की संख्या नौ हजार के आसपास हो जाएगी।

तीन माह बाद करीब सवा लाख फार्मों की हुई फीडिंग

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नगर निगम की सुस्त चाल से जहां एक ओर सफाईकर्मियों की भर्ती अधर में लटकी नजर आ रही है। वहीं दूसरी ओर निगम प्रशासन इन पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा कराने का दम भर रहा है। जबकि 3200 सफाई कर्मियों की भर्ती के लिए करीब पांच से छह लाख फार्म आये हैं, जिसमें से तीन महीने का समय बीतने के बाद भी मात्र सवा लाख फार्मों की फीडिंग का काम ही पूरा हुआ है। शेष फार्म अभी भी बोरे में भरे हुए हैं। उधर 2017 के विधान सभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, जिससे सफाईकर्मियों की भर्ती पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। फिर भी नगर निगम जनवरी तक साक्षात्कार प्रक्रिया पूरी कराने की बात कह रहा है। इसके साथ ही जनवरी में रिजल्ट घोषित करने का दम भर रहा है। इस तरह दावों और हकीकत से बीच सफाईकर्मियों की भर्ती पारदर्शी ढंग हो पायेगी, इसको लेकर लोगों के मन में आशंका पैदा हो गई है।
अभ्यर्थियों से कराई जाएगी नाले की सफाई
नगर निगम एक लाख फार्मांें को फीड करा चुका है और अब वह प्रवेश पत्र देकर नवंबर के मध्य में साक्षात्कार कराने की बात कह रहा है। आवेदन करने वाले सभी अभ्यर्थियों से नगर निगम नाले की सफाई कराकर टेस्ट लेगा। इसके आधार पर ही नियुक्ति की जाएगी। पिछली सरकार के दौरान हुई संविदा सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लिए भी नाले की सफाई करवायी गयी थी। वहीं 3200 पदों के लिए करीब पांच से छह लाख आवेदन आएं हैं। इतनी भारी संख्या को देखते हुए यह परीक्षा कई महीने चलने की उम्मीद है।

मानदेय और नियमित कर्मचारियों का वेतनमान भी निर्धारित

संविदा सफाई कर्मचारी के पद पर होने वाली नियुक्तियां 15 हजार रुपये महीने के मानदेय पर होगी। वहीं नियमित कर्मचारियों को 20 हजार रुपये से अधिक वेतन मिलेगा। अधिकारियों का कहना है कि लाखों की संख्या में आये आवेदनों के बाद सिर्फ लिफाफा खोलने और उनकी सूची बनाने में 20 कर्मचारी लगाने पड़े हैं। अब एक लाख फार्मों की लिस्ट बन जाने के बाद साक्षात्कार प्रक्रिया को शुरू किया जा रहा है।

काल लेटर भेजने की तैयारी कर रहे अधिकारी

जनवरी माह तक साक्षात्कार प्रक्रिया चलती रहेगी और फिर रिजल्ट जारी करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। नगर आयुक्त उदयराज सिंह ने बताया कि सफाई कर्मियों के पदों को भरने के लिए साक्षात्कार की प्रक्रिया इस महीने के अंत तक शुरू हो सकेगी। उन्होंने बताया कि निजी एजेंसी के जरिए फार्म की फीडिंग की जा रही है। अब तक लगभग सवा लाख फार्म का डाटा फीड कर लिया गया है। इस महीने के आखिरी सप्ताह से प्रवेश पत्र भेजने पर विचार किया जा रहा है और दिसंबर के पहले सप्ताह से साक्षात्कार प्रक्रिया शुरू होगी। उन्होंने बताया कि एक तरफ फार्म की फीडिंग होती रहेगी और दूसरी तरफ प्रवेश पत्र भेजकर साक्षात्कार की प्रक्रिया चलती रहेगी।

Pin It