दिल्ली में प्रदूषण से हाहाकार मास्क लगा सडक़ पर उतरे लोग

  • दिल्ली में 15 गुना बढ़ा पॉल्यूशन
  • लोगों ने कहा दिल्ली में जीना हुआ मुश्किल

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। दिल्ली में पॉल्यूशन लेवल नॉर्मल से 15 गुना तक बढ़ गया है। रविवार को भी राजधानी 17 साल की सबसे घनी धुंध के आगोश में है। दूसरी ओर, पॉल्यूशन से निपटने में नाकाम रहने पर सरकार के खिलाफ लोग जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे हैं। उनका कहना है कि दिल्ली में इमरजेंसी जैसे हालात हैं और नेताओं के पास हमारी बात सुनने का वक्त तक नहीं है। अब तो जीना भी मुश्किल हो गया है।
दिल्ली के लोग अपने बच्चों के साथ मास्क पहनकर जंतर-मंतर पर विरोध-प्रदर्शन के लिए पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि अब यहां हर रविवार को प्रदर्शन करेंगे। पॉल्यूशन बच्चों के हेल्थ पर बुरा असर डाल रहा है। अगर ठोस कदम नहीं उठाए गए तो हालात हाथ से निकल जाएंगे। यहां आई एक महिला ने कहा, ‘ऐसा कभी नहीं हुआ कि पॉल्यूशन की वजह से स्कूल बंद किए गए हों, हम ऐसे हालात में बच्चों को नहीं पाल सकते हैं।’ कल दिल्ली में 1800 स्कूल बंद रहे। इससे करीब 10 लाख स्टूडेंट पर असर पड़ा है। शनिवार को सीएम अरविंद केजरीवाल ने केंद्रीय पर्यावरण मंत्री अनिल दवे से मुलाकात की। केजरीवाल ने इससे निपटने में केंद्र से मदद की गुहार लगाई है।

दिल्ली में क्यों बढ़ा पॉल्यूशन?

सीएसई के मुताबिक, दिवाली पर हुई आतिशबाजी के चलते इन्वॉयरमेंट में
जहरीले कणों की मात्रा खतरनाक लेवल को पार कर गई। दिल्ली में हवा की
एयर क्वालिटी के खराब होने का एक कारण तेजी बढ़ते शहरीकरण को भी
बताया जाता है। एक वजह खेतों में फसलों की पराली जलाने और लकड़ी या कोयले
के चूल्हों से निकलने वाले धुएं को भी माना जाता है।

Pin It