दिल्ली में पार्टी के राष्टीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी की गिरफ्तारी पर जताया विरोध

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

captureलखनऊ। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की गिरफ्तारी से खफा वरिष्ठï कांग्रेसी नेता मेंहदी हसन ने बीती रात विधान सभा के सामने आत्मदाह करने का प्रयास किया। लेकिन वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें किसी तरह बचा लिया। पुलिस उनको पकडक़र पहले हजरतगंज थाने ले गई, उसके बाद सिविल अस्पताल भेजा गया। यहां चिकित्सकीय परीक्षण करने के बाद छोड़ दिया गया। वहीं इस घटना से नाराज कांग्रेसियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला भी जलाया।
दिल्ली में वन रैंक वन पेंशन (ओआरओपी) की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल ने बुधवार को विषाक्त पदार्थ खा लिया था, जिससे उसकी मौत हो गई। पूर्व सैनिक की मौत की खबर फैलते ही अस्पताल में राजनीतिक दलों के नेताओं का जमावड़ा होने लगा। पूर्र्व सैनिक के परिजनों से मिलने पहुंचे कांग्रेस के राष्टï्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद से ही कांग्रेसी नेता व कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन करना शुरु कर दिया। राहुल गांधी की गिरफ्तारी की से खफा प्रदेश के वरिष्ठï कांग्रेसी नेता मेंहदी हसन बुधवार की रात केरोसिन से भरा डिब्बा लेकर विधान सभा के सामने पहुंच गए। जहां उन्होंने अपने ऊपर केरोसिन उड़ेल लिया। इसके बाद खुद को माचिस से आग लगाने जा रहे थे। यह देखकर वहां मौजूद पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए। पुलिसकर्मियों ने दौडक़र उन्हें कब्जे में लिया और आग लगाने से रोक लिया। इस दौरान कांग्रेसी नेता ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेन्द्रम मोदी का पुतला फूंका। गौरतलब कि राहुल गांधी पूर्व सैनिक की आत्महत्या के बाद उनके परिजनों से मिलने अस्पताल पहुंचे थे। दिल्ली पुलि ने पहले उन्हें रोका लेकिन जब नहीं माने तो हिरासत में लिया। इसी तरह अरविन्द केजरीवाल और मनीष सिसोदिया भी पूर्व सैनिक के परिजनों से मिलने अस्पताल पहुंचे। वहां उन्होंने पूर्व सैनिक के परिजनों से मुलाकात करने का प्रयास किया। इसलिए उन्हें भी हिरासत में ले लिय गया।

Pin It