डीएम गोंडा आशुतोष ने बनाया विश्व रिकॉर्ड, एक दिन में बांटी मजदूरों को ग्यारह हजार साइकिलें

ग्राम प्रधानों के साथ काफी विथ कलेक्टर जैसे शानदार कार्यक्रम चला चुके हैं आशुतोष
एक दिन में रिकॉर्ड संख्या में मजदूरों को काम दे चुके हंै गोंडा के डीएम

13-nove-page-114पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोंडा के डीएम आशुतोष निरंजन ने एक दिन में 11 हजार मजदूरों को साइकिलें वितरित कर विश्व रिकॉर्ड बना दिया है। इस मौके पर जिलाधिकारी आशुतोष ने कहा कि निर्माण कार्यों में लगे ग्यारह हजार मजदूरों को साइकिलें वितरित की गई हैं। इससे मजदूरों को काफी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि साइकिल के प्रयोग से मजदूर निर्माण साइटों पर आसानी से पहुंच सकेंगे, जिससे उनके धन और समय दोनों की बचत होगी।
गौरतलब है कि आशुतोष ग्राम प्रधानों के साथ मिलकर इसके पहले भी कई शानदार कार्यक्रम चला चुके हैं। उन्होंने ग्राम प्रधानों के साथ काफी विथ कलेक्टर जैसा शानदार कार्यक्रम भी चलाया है। अपने जनहित के कार्यों की वजह से वह आम जनता और मजदूरों, दोनों में समान रूप से लोकप्रिय हैं। एक दिन में ग्यारह हजार मजदूरों को साइकिल वितरित करना एक विश्व रिकॉर्ड है। मजदूरों को साइकिल वितरित करने की योजना को अमलीजामा श्रम विभाग के सहयोग से पहनाया गया। साइकिल वितरण के लिए जिलाधिकारी के निर्देश पर सोलह काउंटर बनाये गये थे। इसके अलावा दो हेल्प डेस्क काउंटर की व्यवस्था की गई थी। जिलाधिकारी ने बताया कि यह एक रिकॉर्ड है और इसके लिए 45 दिन पूर्व कार्ययोजना बनाई गई थी। एक दिन में इतनी साइकिलों का वितरण विश्व के किसी भी देश में नहीं किया गया है। जिलाधिकारी जनहित के कार्यों के लिए अपनी अलग पहचान बना चुके हैं और इस मामले में वे बाकी अन्य अधिकारियों से काफी आगे हैं। वे आम आदमी के हित के लिए हमेशा जरूरी कदम उठाते रहते हैं।

नोट बंदी के फैसले पर केंद्र सरकार को संसद में घेरेगी सपा

पार्टी की संसदीय बोर्ड की बैठक में चुनाव की रणनीति समेत कई अहम मुद्दों पर की गई चर्चा
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समेत पार्टी के वरिष्ठï नेता भी रहे मौजूद

लखनऊ। समाजवादी पार्टी की संसदीय बोर्ड की बैठक रविवार को हुई। बैठक में केंद्र सरकार के नोट बंदी के फैसले समेत कई मुद्दों पर चर्चा की गई। बैठक की अध्यक्षता मुलायम सिंह यादव ने की। बैठक में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, किरनमय नंद समेत पार्टी के कई वरिष्ठï नेता मौजूद रहे। बताया जा रहा है कि नोट बंदी के अलावा बैठक में संसद में भाजपा को घेरने की रणनीति पर भी गहन मंथन किया गया।
गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने हाल ही में 500 व 1000 के पुराने नोटों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इससे आम आदमी को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस मामले में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिखकर प्रतिबंध की समयावधि तीस नवंबर तक करने का आग्रह किया था। इसके अलावा सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव भी केंद्र के अचानक लिए गए इस फैसले की आलोचना कर चुके हैं। इस मामले पर सरकार को सडक़ से संसद तक घेरने की तैयारी की गई है। बतातें चले कि संसद का शीतकालीन सत्र 16 नवंबर से शुरू होने जा रहा है। इस दौरान संसद में सपा केंद्र सरकार को विभिन्न मुद्दों पर घेरेगी। सपा पहले ही कह चुकी है कि मोदी के नोट बंदी के ताजा फैसले से किसानों और मध्यमवर्गीय लोगों की समस्याएं बढ़ गई हैं। इसके अलावा आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर भी बैैठक में गहन विचार-विमर्श किया गया। माना जा रहा है कि पार्टी चुनाव को लेकर विस्तृत रणनीति तैयार कर रही है।

राज्यसभा में नए नेता के नाम पर भी चर्चा

सूत्रों के मुताबिक बैठक में राज्यसभा में नए नेता के नाम पर भी चर्चा की गई है क्योंकि राज्यसभा में सपा के नेता रामगोपाल यादव को पार्टी से पिछले दिनों 6 वर्ष के लिए निष्कासित किया जा चुका है। माना जा रहा है कि बैठक में विधानसभा चुनावों में पार्टी अपने अंदरूनी कलह और पारिवारिक विवाद को किनारे रखकर किस तरह उतरे, इसे लेकर भी मंथन किया गया।

Pin It