जानकीपुरम क्षेत्र में घरों से मनमाना वसूला जा रहा शुल्क

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। घरों से कूड़ा उठाने के लिए नगर निगम के समानांतर चल रही एक व्यवस्था की मनमानी हजारों लोगों पर भारी पड़ रही है। न तो इस संस्था की लचर कार्यप्रणाली पर कोई अंकुश लग रहा है और न ही इसकी मनमानी वसूली को रोकने के लिए कोई उपाय किए जा रहे हैं। नतीजतन हजारों लोग परेशान हैं। शहर में घर-घर कूड़ा उठाने का काम जानकीपुरम में श्रमिक सेवा समिति नाम की संस्था करवा रही है। इस संस्था के पास न तो नगर निगम की ओर से कोई अनुमति है और न ही इसे किसी तरह का शुल्क वसूलने का कोई अधिकार दिया गया है।
नगर निगम के कर्मचारियों और अधिकारियों के सामने ही यह समानांतर व्यवस्था धड़ल्ले से चल रही है। यह श्रमिक सेवा समिति आसपास झोपडिय़ों में रहने वाले मजदूर वर्गों से सफाई करवाता है। इनमें अधिकांश बांग्ला बोलने वाली महिलाएं भी शामिल हैं। पहले हर घर से कूड़ा उठाने के नाम पर 50 रुपये प्रतिमाह की वसूली होती थी। दो माह पहले इसे बढ़ाकर 60 रुपये कर दिया गया। जबकि अब इसे बढ़ाकर 80 रुपये कर दिया गया है। इस फर्जीवाड़े को रोकने के लिए नगर निगम कोई कदम ही नहीं उठा रहा है। जबकि इसका फायदा उठाकर श्रमिक सेवा समिति के तथाकथित पदाधिकारी आम लोगों से मनमाना शुल्क गैरकानूनी रूप से वसूल रहे हैं। इस संबंध में जब नगर आयुक्त उदयराज सिंह से बात करने के लिए मोबाइल सें संपर्क किया गया, तो उनका मोबाइल नहीं उठा।

Pin It