कांग्रेस के मुखपत्र में ही कांग्रेस की फजीहत, चाचा नेहरू पर उठाए सवाल

कांग्रेस दर्शन पत्रिका में सोनिया पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी

इस घटना के लिए संजय निरुपम ने मांगी माफी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। कांग्रेस की पत्रिका ‘कांग्रेस दर्शन’ में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पर आपत्तिजनक लेख छापा है। इसमें सोनिया के पिता को फासीवाद सैनिक बताया गया है, जबकि नेहरू के फैसलों पर सवाल उठाए गए हैं।
कांग्रेस की मुंबई यूनिट के इस मुखपत्र में कहा गया है कि भारत के सामने कश्मीर, चीन और तिब्बत जैसे समस्याओं के लिए जवाहर लाल नेहरू जिम्मेदार हैं। इसमें साफ-साफ कहा गया है कि नेहरू को स्वतंत्रता सेनानी और पूर्व गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की बात मानना चाहिए थी। वहीं लेख में सोनिया पर भी सवाल उठाया गया है। कहा गया है कि राजीव गांधी से शादी करने के बहुत समय बाद सोनिया ने भारत की नागरिकता अपनाई थी। साथ ही उनके पिता को फासीवादी सैनिक बताया गया है।

नेहरू-पटेल पर टिप्पणी
इससे पहले पार्टी ने शायद ही इन दोनों नेताओं के बीच के मतभेद को उठाया गया हो लेकिन ‘कांग्रेस दर्शन’ में अब इस मुद्दे को उठाया गया है। ये लेख 15 दिसंबर को पटेल की पुण्यतिथि के मौके पर उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए लिखा गया है। इसमें कहा गया है, पटेल के उप प्रधानमंत्री और गृह मंत्री बनने के बावजूद दोनों नेताओं के बीच रिश्ते तनावपूर्ण रहे और दोनों बार-बार इस्तीफा देने की धमकी देते रहे। पत्रिका के सांसद कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने इस गलती के लिए माफी मांगी। निरुपम ने कहा, ‘लेख में जो शब्द इस्तेमाल किए गए हैं, वो आपत्तिजनक हैं। इस भयंकर गलती को करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी। ’

पटेल का जन्मदिवस
इस लेख में कहा गया है कि सरदार वल्लभभाई पटेल के जन्म दिवस (31 अक्टूबर) को 2014 से नेशनल यूनिटी डे के तौर पर मनाया जा रहा है। लगता है कि मुंबई स्थानीय कांग्रेस कमेटी ये भूल गई है कि इसे विपक्षी दल बीजेपी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये कहते हुए शुरू किया था कि कांग्रेस ने अपने नेता को भुला दिया है।

Pin It