कश्मीर में सेना पर आतंकी हमला, दो जवान शहीद

  • नागरोटा में आतंकियों ने आर्मी की 16वीं कोर के हेडक्वार्टर पर बम से किया हमला
  • सांबा सेक्टर में संदिग्ध आतंकियों ने पूछताछ के दौरान बीएसएफ के जवानों पर की फायरिंग
  • चार आतंकी ढेर, मुठभेड़ अभी भी जारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureनई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के नागरोटा में आज तडक़े दो जगहों पर आतंकी हमला हुआ, जिसमें आतंकियों ने सिक्युरिटी फोर्सेस को निशाना बनाया। आतंकियों ने सुबह करीब 5.40 बजे आर्मी की 16वीं कोर के हेडक्वार्ट पर बम से हमला कर दिया। इसमें दो जवान शहीद हो गए हैं। आतंकियों ने अत्याधुनिक हथियारों के साथ कैम्प में घुसने की कोशिश भी की। हालांकि वे कामयाब नहीं हो पाए। जवान आतंकियों की फायरिंग का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं। अब तक नागरोटा में चार आतंकियों के मारे जाने की भी सूचना है। बताया जा रहा है कि आतंकियों की तादाद आधा दर्जन के करीब है। वहीं दूसरा हमला बीएसएफ के जवानों पर सांबा सेक्टर में हुआ। इसलिए आर्मी ने इलाके को घेर लिया है। एहतियात के तौर पर आस-पास के इलाकों को खाली करवाने के साथ ही स्कूलों में भी छुट्टी करा दी गई है। हालांकि सेना की तरफ से दोनों जवानों और आतंकियों के मारे जाने की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।
हमले के बाद आर्मी ने यहां 20 किलोमीटर इलाके को घेर लिया है। यहां के स्कूलों और दुकानों को बंद करा दिया गया। इस हमले में आर्मी के दो जवान घायल हो गए हैं। बाद में इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई। इन जवानों के शहीद होने की सेना की तरफ से आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। बताया जा रहा है कि आतंकियों ने यूनिट के पीछे दीवार के गेट पर खड़े संतरी को पहले टारगेट किया। वहां ग्रेनेड मार कर अफरा-तफरी पैदा करने की कोशिश की। यह सेना की 16वीं कोर का हेडक्वार्टर है। इससे आसपास घने जंगल भी हैं। इसलिए आतंकियों को छिपकर हमला करने के लिए काफी जगह मिली है।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हमला करने वाले आतंकियों ने सेना की वर्दी पहन रखी थी। यह इलाका जम्मू-श्रीनगर हाईवे से सटा है, इसलिए सेना जल्द से जल्द एनकाउंटर खत्म करना चाहती है। वहीं सांबा सेक्टर में आतंकियों ने बीएसएफ जवानों को निशाना बनाया।

Pin It