एलडीए की लोक अदालत में 87 मामलों का हुआ निस्तारण

capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अदालतों में लंबित मामलों को निपटाने के लिए राष्टï्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के तहत आयोजित मेगा लोक अदालत का समापन शनिवार को हुआ। इसी क्रम में एलडीए की लोक अदालत में 120 मामले पहुंचे, जिसमें से 87 मामलों को मौके पर ही निपटा दिया गया। वहीं, नगर निगम की लोक अदालत में 1044 मामलों का निस्तारण किया गया।
खदरा के रूपनगर निवासी राम गोपाल बाजपेयी को वर्ष 2009 में सर्वजन हिताय योजना के तहत एलडीए ने प्लॉट का आवंटन किया था, लेकिन कब्जा लेटर नहीं दिया। कई साल चक्कर लगाने के बाद जब वह लोक अदालत पहुंचा तो उसको मंगलवार तक कब्जा लेटर देने का आदेश जारी किया गया। एलडीए की लोक अदालत में 120 मामले आए। कुल 17 लोगों को गोमतीनगर विस्तार में प्लॉट का आवंटन किया गया। लोक अदालत में सीतापुर रोड योजना में सुशीला देवी के ईडब्ल्यूएस मकान की रजिस्ट्री उसकी कास्टिंग फीस जमा करने के एक साल बाद भी न होने का मामला आया, जिसे नोडल अधिकारी एवं संयुक्त सचिव धनंजय शुक्ल ने निस्तारित किया। आशा देवी को गोमतीनगर विस्तार में उनकी जमीन अधिग्रहीत कर 850 वर्गफीट का प्लाट दिया गया लेकिन वहां कोई विकास नहीं हुआ था। मौके पर बताया गया कि जल्द ही क्षेत्र में सडक़ और नाली जैसी बुनियादी सुविधाओं का विकास किया जाएगा।

नगर निगम में सुलझे 1044 मामले
नगर निगम की ओर से भी मेगा लोक अदालत का आयोजन किया गया। इस लोक अदालत में नगर निगम कर से जुड़े 1133 मामले सामने आए थे। जिसमें से 1094 का मौके पर निस्तारित कर दिया गया। इस दौरान भवन कर और नामांतरण से जुड़ी 565, सफाई से संबंधित 258 और कूड़ा निस्तारण से जुड़ी 271 शिकायतों का निस्तारण किया गया।

Pin It