आरक्षण समर्थकों का ऐलान नहीं मनाएंगे दीपावली

लखनऊ। लोकसभा में लंबित पदोन्नति में आरक्षण संबंधी बिल पास न होने के विरोध में आरक्षण समर्थक 11 नवंबर को केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल रैली करेंगे। आरक्षण समर्थकों ने दीपावली न मनाने का भी ऐलान किया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार ने बिल न पास कराकर आठ लाख दलित कर्मियों को निराश किया है। उच्चतम न्यायालय द्वारा पदोन्नति में आरक्षण व्यवस्था समाप्त किए जाने के बाद सरकारी विभागों में ऐसे कर्मियों को रिवर्ट कर दिया गया, जिनको इसके तहत प्रमोशन मिला था। कई विभागों में पदावनत करने की कार्रवाई चल रही है। इसके विरोध में उतरी आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति ने लोकसभा में लंबित पदोन्नति में आरक्षण संबंधी संशोधन बिल को पास कराने के लिए आंदोलन छेड़ रखा है। तमाम प्रयासों व आंदोलनों के बावजूद बिल पास न होने पर समिति ने राजधानी में सामाजिक परिवर्तन स्थल पर मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल रैली करने का निर्णय लिया है। यह भी निर्णय लिया गया है कि आठ लाख आरक्षण समर्थक कार्मिक प्रकाश पर्व दीपावली नहीं मनायेंगे।

Pin It