आम जनता तक ज्ञान की बातों को पहुंचायें वैैज्ञानिक: राम नाईक

  • आईआईटीआर के स्वर्ण जयंती महोत्सव में वैज्ञानिकों से की अपील

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ । उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने वैज्ञानिकों से अपील की है कि वो अपने पास मौजूद ज्ञान को आम जनता तक पहुंचायें। इससे निश्चित तौर पर जनता को लाभ मिलेगा और देश के लोगों के रहन-सहन और जीवन स्तर में भी सुधार आयेगा।
राज्यपाल रामनाईक ने सीएसआइआर-भारतीय विषविज्ञान अनुसंधान संस्थान (आइआइटीआर) के स्वर्ण जयंती वार्षिकोत्सव के दौरान कहा कि यह विज्ञान की ही देन है, जिसकी वजह से हम गेंहू और धान बाहर से मंगाने के बजाय अपनी जमीन में पर्याप्त अनाज पैदा करते हैं। उनसे विदेशों में निर्यात भी करते हैं। उन्होंने कहा कि आईआईटीआर अकेला ऐसा संस्थान है, जो पर्यावरण, जन स्वास्थ्य व उद्योगों के लिए कार्य कर रहा है। ग्लोबल वार्मिंग से कैसे निपटें इसकी सलाह भीवैज्ञानिकों को देनी चाहिए। आज जब संस्थान अपनी 50वीं वर्षगांठ मना रहा है इस पर भी मंथन करना होगा कि क्या किया और क्या और कर सकते हैं। राज्यपाल ने राजधानी की पोस्ट मानसून पर्यावरण रिपोर्ट के साथ अन्य प्रकाशन जारी किए। इसके पूर्व आईआईटीआर के निदेशक प्रोफेसर आलोक धावन ने वार्षिक रिपोर्ट पेश करते हुए बताया कि बीते वर्ष के मुकाबले संस्थान द्वारा ज्यादा हाई इम्पैक्ट शोध पत्र प्रकाशित किए गए हैं। वार्षिकोत्सव पर यूनाइटेड किंगडम की यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रेडफोर्ड से एक एमओयू किया गया। उम्मीद है कि आने वाले समय में आईआईटीआर और यूनिवर्सिटी पर्यावरण व अन्य क्षेत्रों में बेहतर काम कर सकेंगे। इस अवसर पर यूनीवर्सिटी ऑफ ब्रेशफोर्ड के कुलपति ब्रायन कैंटर ने बहु घटक और उच्च एन्ट्रॉपी एलोय पर व्याख्यान दिया।

Pin It