अटेवा ने पेंशन बहाली के लिए आक्रोश महारैली का किया ऐलान 13 नवंबर को लक्ष्मण मेला मैदान में जुटेंगे लाखों सदस्य, विभिन्न विभागों के कर्मचारी होंगे शामिल १११ 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क लखनऊ। अटेवा-पेंशन बचाओं मंच ने 13 नवंबर को लक्ष्मण मेला मैदान में आक्रोश महारैली निकालने का निर्णय लिया है। कैंम्प कार्यालय में पदाधिकारियों की बैठक के दौरान सर्वसम्मति से इस बात का फैसला लिया गया। इसके साथ ही संगठन से जुड़े सभी सदस्यों से आक्रोश महारैली में अधिक से अधिक संख्या में जुटने की अपील की गई। देश में 1 अप्रैल 2005 के बाद नियुक्त शिक्षकों, कर्मचारियों व अधिकारियों ने पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर अटेवा संघर्ष कर रहा है। अटेवा के प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार ‘बन्धु’ ने बताया की दस लाख पेंशन विहीनों के हक पुरानी पेंशन को सरकार ने बहाल नहीं किया, तो उसका खामियाजा आगामी 2017 के विधानसभा चुनाव में भुगतान पड़ेगा। उत्तर प्रदेश के लाखों पेंशन विहीन कर्मचारी 13 नवम्बर, 2016 को लक्ष्मण मेला मैदान लखनऊ में ‘आक्रोश महारैली’ में जुटेंगे। इसमें विभिन्न विभागों के शिक्षक, कर्मचारी व अधिकारी शामिल रहेंगे। संगठन के प्रदेश मंत्री रमेश चन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश शासन से वार्ता के बाद भी पेंशन बहाली की दिशा में कोई सार्थक कदम नहीं उठाया गया, जिससे युवा कर्मचारियों में भारी आक्रोश है। अटेवा की उक्त महारैली में कई अन्य प्रान्तों के प्रतिनिधि भी प्रतिभाग करेंगे। क्योंकि अटेवा ने पेंशन बहाली आन्दोलन की चिंगारी आज पूरे देश में फैलाने का कार्य किया है। इस बैठक में डॉ. नीरज पति त्रिपाठी, राजेश यादव, डॉ. अब्बास, दया शंकर, विक्रमादित्य मौर्य, रवीन्द्र वर्मा, ज्ञानेन्द्र शंकर, सुरेन्द्र पाल, नवल अवस्थी व झारखण्डे आदि लोग उपस्थित थे।

  • अटेवा ने पेंशन बहाली के लिए आक्रोश महारैली का किया ऐलान
  • 13 नवंबर को लक्ष्मण मेला मैदान में जुटेंगे लाखों सदस्य, विभिन्न विभागों के कर्मचारी होंगे शामिल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अटेवा-पेंशन बचाओं मंच ने 13 नवंबर को लक्ष्मण मेला मैदान में आक्रोश महारैली निकालने का निर्णय लिया है। कैंम्प कार्यालय में पदाधिकारियों की बैठक के दौरान सर्वसम्मति से इस बात का फैसला लिया गया। इसके साथ ही संगठन से जुड़े सभी सदस्यों से आक्रोश महारैली में अधिक से अधिक संख्या में जुटने की अपील की गई।
देश में 1 अप्रैल 2005 के बाद नियुक्त शिक्षकों, कर्मचारियों व अधिकारियों ने पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर अटेवा संघर्ष कर रहा है। अटेवा के प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार ‘बन्धु’ ने बताया की दस लाख पेंशन विहीनों के हक पुरानी पेंशन को सरकार ने बहाल नहीं किया, तो उसका खामियाजा आगामी 2017 के विधानसभा चुनाव में भुगतान पड़ेगा। उत्तर प्रदेश के लाखों पेंशन विहीन कर्मचारी 13 नवम्बर, 2016 को लक्ष्मण मेला मैदान लखनऊ में ‘आक्रोश महारैली’ में जुटेंगे। इसमें विभिन्न विभागों के शिक्षक, कर्मचारी व अधिकारी शामिल रहेंगे। संगठन के प्रदेश मंत्री रमेश चन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश शासन से वार्ता के बाद भी पेंशन बहाली की दिशा में कोई सार्थक कदम नहीं उठाया गया, जिससे युवा कर्मचारियों में भारी आक्रोश है। अटेवा की उक्त महारैली में कई अन्य प्रान्तों के प्रतिनिधि भी प्रतिभाग करेंगे। क्योंकि अटेवा ने पेंशन बहाली आन्दोलन की चिंगारी आज पूरे देश में फैलाने का कार्य किया है। इस बैठक में डॉ. नीरज पति त्रिपाठी, राजेश यादव, डॉ. अब्बास, दया शंकर, विक्रमादित्य मौर्य, रवीन्द्र वर्मा, ज्ञानेन्द्र शंकर, सुरेन्द्र पाल, नवल अवस्थी व झारखण्डे आदि लोग उपस्थित थे।

Pin It