अजित सिंह ने कहा सपा के रजत जयंती समारोह में आयेंगे, गठबंधन की कोशिशें तेज

  • मुलायम ने नीतीश, लालू और शरद यादव को भी भेजा बुलावा, थर्ड फ्रंट बनाने की कोशिशें तेज, मगर जयंत ने कहा कि अभी गठबंधन की कोई बात नहीं
  • केसी त्यागी के घर पर पीके की मौजूदगी से कांग्रेस के साथ गठबंधन की उम्मीदें बढ़ी

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह के निर्देश पर प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव थर्ड फ्रंड बनाने की कोशिशों में जुट गये हैं। वह 5 नवंबर को सपा के रजत जयंती समारोह में थर्ड फ्रंट के नेताओं को इकट्ठा करने में लगे हुए हैं। इसी मकसद से उन्होंने आज सुबह रालोद के अध्यक्ष अजित सिंह से मुलाकात की। उन्हें मुलायम सिंह की तरफ से भेजा गया निमंत्रण दिया, तो अजित सिंह ने सपा के रजत जयंती समारोह में शामिल होने की हामी भर दी। वहीं जानकारों की मानें तो दोनों नेताओं के बीच करीब आधे घंटे की बातचीत भी हुई, जिसमें आने वाले चुनाव में थर्ड फ्रंट बनाने को लेकर चर्चा की गई।
सपा प्रमुख मुलायम सिंह अपने पुराने साथियों को दोबारा एक मंच पर लाना चाहते हैं। इस शुभ काम के लिए उन्होंने दिन और समय भी निश्चित कर लिया है। इसी वजह से नेताजी ने अपने छोटे भाई और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल को पुराने साथियों से मुलाकात करने और रजत जयंती समारोह में शामिल होने का निमंत्रण देने की जिम्मेदारी सौंपी है। प्रमुख बात ये भी है कि सपा मुखिया मुलायम सिंह खुद भी अपने पुराने साथियों को फोन के माध्यम से रजत जयंती समारोह में आने का निमंत्रण दे रहे हैं। ये अलग बात है कि अब तक केवल अजित सिंह ने रजत जयंती समारोह में आने की बात सार्वजनिक तौर पर कही है। शरद यादव, लालू यादव और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रजत जयंती समारोह में आयेंगे या नहीं, इस बारे में अब तक स्पष्ट नहीं है। लेकिन जिस तरीके से मुलायम और शिवपाल पुराने साथियों को एकजुट कर रहे हैं, उससे लगने लगा है कि बहुत जल्द थर्ड फ्रंट के लोग एक मंच पर होंगे और बीजेपी को कड़ी टक्कर देंगे।
दरअसल, बिहार में होने वाले विधानसभा चुनावों के दौरान भी सपा, रालोद, जदयू और अन्य पार्टियों को मिलाकर थर्ड फ्रंट बनाने की बात की थी। लेकिन बात नहीं बनी।

Pin It