होम्योपैथी विभाग की वेबसाइट पर अभी भी चिकित्सा शिक्षा मंत्री हैं लालजी वर्मा

  • लापरवाह अधिकारियों की वजह से चार साल बाद भी अपडेट नहीं हुई वेबसाइट
  • सेवानिवृत्त हो चुके निदेशक डॉ. बी.एन. सिंह को वेबसाइट में दिखाया जा रहा वर्तमान निदेशक
  • आम जनता को दी जा रही विभाग के बारे में गलत जानकारी

Captureवीरेन्द्र पांडेय
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की सपा सरकार लोगों के स्वास्थ्य को लेकर जहां कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है, वहीं होम्योपैथी विभाग के अधिकारी सरकार की मंशा पर पानी फेर रहे हैं। होम्योपैथी विभाग के अधिकारियों के लापरवाही की एक नजीर विभाग की बेवसाइट पर भी मौजूद है। चार से विभाग की वेबसाइट अपडेट नहीं हुई है। यहां लालजी वर्मा अभी भी चिकित्सा शिक्षा मंत्री और डॉ. एनबी सिंह निदेशक हैं। जबकि वर्तमान में दोनों पदों पर अलग व्यक्ति तैनात है।
होम्योपैथी विभाग की वेबसाइट पर पिछली बसपा सरकार में मंत्री रहे लालजी वर्मा को ही वर्तमान चिकित्सा शिक्षा मंत्री दिखाया गया है। जबकि वर्तमान में चिकित्सा शिक्षा मंत्री राधेश्याम सिंह है। वहीं निदेशक भी बदल चुके हैं। डॉ. बीएन सिंह की जगह डॉ. विक्रमा प्रसाद निदेशक हैं। सूबे से बसपा की सरकार तथा मंत्री बदले चार साल से ज्यादा का वक्त बीत चुका है। वेबसाइट को देखकर तो यही लगता है कि बीते चार साल से विभाग द्वारा वेबसाइट देखने की जहमत तक नहीं उठायी गयी है। इससे इस बात का अंदाजा लगाना आसान हो गया है कि होम्योपैथी विभाग के वर्तमान स्थित के लिए जिम्मेदार सरकार नहीं बल्कि अधिकारी हैं। विभाग के अधिकारियों की कुम्भकरणी नींद के कारण आम जनता को गलत जानकारी दी जा रही है। जो कि लोगों के लिए समस्या का सबब बनती जा रही है। होम्योपैथी निदेशालय की वेबसाइट के मुताबिक अभी भी बसपा सरकार में मंत्री रहे लालजी वर्मा चिकित्सा शिक्षा मंत्री और राजेश त्रिपाठी चिकित्सा शिक्षा राज्यमंत्री हैं। इसके अलावा वर्षों पहले सेवानिवृत्त हो चुके होम्योपैथी के निदेशक पद पर डा. बी.एन. सिंह का नाम दर्ज है। इतना ही नहीं, सूबे के अधिकांश होम्योपैथी मेडिकल कालेजों के प्राचार्य और जिलों में तैनात जिला होम्योचिकित्साधिकारी भी बदल चुके हैं या फिर सेवानिवृत्त हो चुके हैं। इसके बावजूद उन लोगों का नाम विभाग की वेबसाइट पर दर्ज है। इससे विभाग के साथ-साथ प्रदेश सरकार की भी छवि धूमिल हो रही है। जो सरकार की तरफ से सभी विभागों को अपडेट रखने और आम जनता को आसानी से सारी जानकारी आनलाइन उपलब्ध कराने की मंशा पर पानी फेरने वाला कदम साबित हो रहा है।

Pin It