हुसैनगंज में बिजली पानी की किल्लत

तीन दिन से घरों में पानी के लिए हाहाकार

Capture 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के कई मोहल्ले बिजली और पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं। इसमें सबसे अधिक प्रभावित हुसैनगंज क्षेत्र है। यहां तीन दिन से लगातार बिजली की अघोषित और अंधाधुंध कटौती की जा रही है, इसके साथ ही मोहल्ले में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। इसकी जानकारी क्षेत्रीय पॉवर हाउस के जेई को भी है लेकिन पर जनता की समस्याओं का समाधान करने की बजाय अपना कार्यालय छोडक़र फरार है।
हुसैनगंज निवासी हरपाल सिंह के मुताबिक मोहल्ले में तीन दिन से बिजली और पानी का संकट बना हुआ है। करीब हजारों बिजली उपभोक्ता परेशान हैं। इस मोहल्ले में सैकड़ों मुस्लिम परिवार भी रहते हैं। जिन्हें पीने के लिए पानी तक मयस्सर नहीं है। जबकि नगर निगम, बिजली विभाग और प्रशासन के अधिकारियों ने बकरीद के त्यौहार पर 24 घंटे बिजली, पानी और सफाई व्यवस्था के प्रबंध का दावा किया था। लेकिन बकरीद के एक दिन पूर्व से ही मोहल्ले में बार-बार बिजली की कटौती हो रही है। इस कारण बमुश्किल सुबह और शाम के वक्त एक-एक घंटे आने वाली पानी की सप्लाई भी ठप हो गई है। इसकी प्रमुख वजह क्षेत्रीय नलकूपों का बिजली नहीं होने की वजह से बंद पड़े रहना है। इस संबंध में क्षेत्रीय नागरिकों ने बिजली विभाग के कार्यालय पहुंचकर अधिकारियों और कर्मचारियों को अपनी समस्या से अवगत कराने और प्रदर्शन कर समस्या का जल्द से जल्द समाधान निकालने की मांग की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इस क्षेत्र में जो भी हैण्डपम्प लगे हैं, उन पर पीने का पानी भरने वालों की लंबी लाइनें लगी हुई हैं। तीन दिन से हुसैनगंज मोहल्ले में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है, जिन लोगों ने सबमर्सिबल के माध्यम से अपने घरों में पानी स्टोर किया था, बिजली नहीं होने की वजह से उनके सामने भी पानी का संकट उत्पन्न हो गया है। इतना ही नहीं नौकरी पेशा लोगों और स्कूल जाने वाले बच्चों के सामने नहाने की समस्या भी उत्पन्न हो गई है। ऐसे में लोगों के अंदर नगर निगम और बिजली विभाग के प्रति काफी गुस्सा है। यदि प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लेकर बिजली और पानी के संकट का समुचित समाधान नहीं किया तो स्थिति भयावह रूप ले सकती है।

Pin It