…हुजूर आते-आते बहुत देर कर दी

लोकसभा चुनाव के एक साल बाद पहली बार मोदी लखनऊ आ रहे हैं

 Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उस प्रदेश में आने में 12 महीने लग गए, जिस प्रदेश ने उन्हें सबसे अधिक 73 सांसद दिए और उनकी सरकार बनवाई। चुनाव के दौरान मोदी ने कई लोक-लुभावन वादे किए थे, लेकिन अर्ज तो यह है कि मोदी को यहां आने में डेढ़ साल लग गए। हालांकि प्रधानमंत्री मोदी उन प्रदेशों में जरूर गए हैं जहां पर चुनाव होने को थे या हुए। वह वाराणसी और मेरठ भी आए, लेकिन लखनऊ आने से बचते रहे हैं। वह पहली बार लखनऊ आ रहे हैं।
तय कार्यकम के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और राज्यपाल राम नाईक एक बजकर 40 मिनट के करीब, उन्हें अमौसी एयरपोर्ट पर रिसीव करेंगे। इसके बाद वे डा. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय के विद्या विहार में जाएंगे। करीब एक बजकर 55 मिनट पर उनका विश्वविद्यालय में आगमन होगा। वह विश्वविद्यालय के छठें दीक्षांत समारोह में भी हिस्सा लेंगे। इसके बाद वह करीब तीन बजकर 30 मिनट पर काल्विन तालुकेदार आएंगे। इस यात्रा को लेकर सडक़ और हेलीकॉप्टर दोनों ही रूट पर प्रशासन विचार कर रहा है। यदि मौसम साफ रहा तो वह हेलीकॉप्टर से ही काल्विन तालुकेदार आएंगे। यहां पर ई रिक्शा का वितरण करेंगे और इसके बाद करीब चार बजकर चालीस मिनट पर अम्बेडकर महासभा आने का कार्यक्रम है। यहां पर वह अम्बेडकर के अस्थि कलश पर पुष्प अर्पण करेंगे। इसके बाद वह करीब पांच बजकर 15 मिनट पर सडक़ मार्ग से एयरपोर्ट के लिए रवाना हो जाएंगे। करीब पांच बजकर 40 मिनट पर पीएम भारतीय वायुसेना के विमान से दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

पारसनाथ यादव होंगे पीएम के साथ
यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री पारसनाथ यादव को यह जिम्मेदारी दी गई है कि वह पीएम की यात्रा के दौरान लखनऊ में उनके साथ होंगे। अंबेडकर विश्वविद्यालय में कार्यक्रम के साथ ही पारसनाथ यादव मोदी के विदाई के समय तक उनके साथ रहेंगे। भाजपा नेता मायूस, पीएम से नहीं होगी मुलाकातपीएम भले ही राजधानी आ रहे हैं, लेकिन पार्टी के कार्यकर्ता तो क्या, भाजपा के आला नेता भी उनसे नहीं मिल पाएंगे। केवल राजनाथ सिंह और मेयर दिनेश शर्मा उनके साथ होंगे। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने उनसे मिलने के लिए समय मांगा था,लेकिन हरी झंडी नहीं मिल पाई है।

Pin It