हाईकोर्ट के फैसले से शिक्षामित्रों में आक्रोश, जबरन बंद कराए स्कूल

शिक्षा मित्रों को पहुंचा सदमा, कई ने दी जान
Captureबुधवार को लखनऊ में होगी शिक्षा मित्रों की बैठक, बनेगी आगे की रणनीति

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। हाईकोर्ट से शिक्षामित्रों का समायोजन कैंसिल होने का फैसला आने के बाद यूपी के शिक्षामित्रों में काफी आक्रोश है। अधिकांश शिक्षामित्र अपने को ठगा महसूस कर रहे है। इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के 24 घंटे के अंदर प्रदेश के अलग-अलग जिलों में 7 शिक्षामित्रों की मौत हो गई। इनमें से कुछ लोगों ने आत्महत्या कर लिया, तो किसी की सदमे से जान चली गई। आक्रोशित शिक्षामित्रों ने सोमवार को अधिकांश जगह प्राइमरी स्कूलों को जबरन बंद कराया और जमकर नारेबाजी की। पूरे प्रदेश में कई स्कूलों में शिक्षामित्रों ने स्कूलों में टेबल-कुर्सियां भी तोड़ दीं। ऐसे में बवाल को देखते हुए टीचर स्कूल गेट में ताला जडक़र भाग गए। प्रदर्शन कर रहे शिक्षामित्रों का कहना है कि उनके साथ अन्याय हुई है और जब तक न्याय नहीं मिलता स्कूल बंद रहेंगे। शिक्षामित्रों ने बड़े स्तर पर आंदोलन करने की चेतावनी दी है।
शनिवार को हाईकोर्ट के फैसले के बाद सूबे के शिक्षामित्रों में मायूसी छा गई। हाईकोर्ट के फैसले से लगभग 1 लाख 70 हजार शिक्षामित्र प्रभावित हुए है। रविवार को बरेली के करीब 3400 शिक्षामित्रों ने विरोध प्रदर्शन किया और राष्टï्रपति से इच्छामृत्यु की मांग की। शिक्षामित्रों ने इस बारे में डीएम को एक लेटर भी दिया है। इसके अलावा लखीमपुर खीरी में हजारों शिक्षामित्रों ने रविवार को सदर स्कूल में प्रदर्शन किया। उन्होंने दो दिन तक स्कूल नहीं जाने का फैसला लिया है, जबकि आगरा के हरिपर्वत इलाके में हजारों शिक्षामित्रों ने केंद्रीय मानव संसाधन और विकास राज्यमंत्री रामशंकर कठेरिया के आवास का घेराव किया। शिक्षामित्रों के आक्रोश और आत्महत्या की खबरों से सरकार के भी हाथ-पाव फूल गए है। यूपी के मुख्य सचिव आलोक रंजन ने सभी जिलों के डीएम को ये आदेश दिए हैं कि अगर उनके जिले में किसी शिक्षामित्र की अप्राकृतिक मौत हुई है, तो उनके परिजनों को 5 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाए। उन्होंने कहा, शिक्षामित्र संयम बनाए रखें। सरकार उनका पूरा सहयोग करेगी। सरकार इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करेगी।

एक साथ जुटेंगे कई संगठन
शिक्षामित्र संघ के प्रदेश अध्यक्ष गाजी इमाम आला ने कहा है कि शिक्षामित्र सोमवार को प्रदेशभर में स्कूल बंद करवाएंगे। बुधवार को शिक्षामित्रों के सभी संगठन एक साथ लखनऊ में जुटेंगे। इस दिन आगे के आंदोलन और हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील के बारे में फैसला लिया जाएगा।

Pin It