हत्या के आरोपियों की सम्पत्ति होगी कुर्क

एक वर्ष पूर्व हुयी थी हत्या, कोई भी आरोपी नहीं हुआ गिरफ्तार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एक वर्ष पूर्व हत्या की हुयी घटना में 13 अभियुक्तों के विरुद्ध फरारी की डुग्गी पिटवाकर उद्ïघोषणा करने के बावजूद किसी नामजद आरोपी के न मिलने पर पुलिस ने न्यायालय के आदेश की अवहेलना करने के आरोप में सभी के विरूद्ध धारा 174-ए का अभियोग दर्ज कर सभी की चल व अचल सम्पत्ति की कुर्की करने की तैयारी कर ली है।

विगत वर्ष नौ अप्रैल को ग्राम गदियनखेड़ा निवासी किसान मेवालाल रावत (55) की सुबह नौ बजे ग्राम बंजारनखेड़ा चौराहे के पास लाठी-डण्डों से पीट-पीटकर हत्या कर दी गयी थी। घटना की रिपोर्ट मृतक के गांव के निवासी रामनरेश यादव ने दर्ज करायी थी, जिसमें ग्राम बंजारनखेड़ा निवासी अजमेरी, कमाल, टूटा उर्फ जुम्मन, सुल्खा उर्फ मुन्ना, खर्रा उर्फ जमाल, अख्तर, कल्लू, इकबाल उर्फ मुन्ना, मुश्ताक, राजू उर्फ शकील, खुदाबक्स की पत्नी पठानिन, हुसैनी व जफर अली उर्फ जकरिया उर्फ जुडिया को नामजद किया गया था। घटना के समय से यह सभी नामजद अपने गांव से फरार हो गये थे। पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी के लिए अनेक स्थानों पर दबिशें दी थी लेकिन किसी के नहीं मिलने पर पुलिस ने इन सभी के विरूद्ध गैर जमानती वारन्ट प्राप्त कर गिरफ्तारी का प्रयास किया। इसके बाद न्यायालय से 20 अप्रैल को आदेश लेकर धारा-82 के अन्र्तगत सभी फरार अभियुक्तों की फरारी की उद्ïघोषणा उनके गांव व आसपास मुनादी पिटवाकर करायी थी। इस पर भी किसी अभियुक्त ने न्यायालय में आत्मसमर्पण नही किया। घटना के विवेचक पुलिस क्षेत्राधिकारी अभयनाथ त्रिपाठी ने आरोपियों की चल अचल सम्पत्ति कुर्क करने का आदेश प्राप्त करने के लिए रिपोर्ट न्यायालय भेजी है। सूत्रों के अनुसार इसी सप्ताह सभी फरार आरोपियों की सारी सम्पत्ति कुर्क कर दी जायेगी।

Pin It