हत्याएं ही नहीं आत्महत्याएं भी बनी पुलिस के लिये सिर दर्द

पारिवारिक समस्या, पे्रम, गरीबी और बेरोजगारी है आत्महत्या करने का कारण

आंकड़ों के अनुसार पिछले वर्ष 404 लोगों ने दी जान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में हत्या ही नहीं आत्महत्यायें भी रोज हो रही हैं। हालत यह है कि प्रतिदिन एक से दो लोग आत्महत्या कर रहे हैं। आत्महत्या करने का कारण जो निकल कर सामने आया है उसमें मुख्य रूप से पारिवारिक समस्या, पे्रम, गरीबी और बेरोजगारी बताया जा रहा है। यदि यह कहा जाये कि लोगों में संघर्ष करने की क्षमता दिन-प्रतिदिन घट रही है तो गलत नहीं होगा। आये दिन आत्महत्या बढऩे के कारण पुलिस भी जहां परेशान हो रही है वहीं उस व्यक्ति के आत्महत्या करने से परिजनों के सामने आर्थिक समस्याओं के साथ कई तरह की समस्यायें भी उत्पन्न हो रही हैं।

वर्ष 2014 में राजधानी में कुल 404 लोगों ने आत्महत्यायें की है। यह पुलिस का आंकड़ा है। हालांकि कई ऐसे मामले है जिसमें परिजनों ने बिना पुलिस को सूचना दिये हुये ही शव का अंतिम संस्कार कर दिया होगा। आत्महत्या करने वालों में 347 पुरूष तथा 57 महिलायें हैं। आत्महत्या करने वालेां में हर उम्र के लोग शामिल है।
इस उम्र के लोगों ने की आत्महत्याएं

पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक पुरूषों में 18 से 30 वर्ष के बीच जहां 105 लोगों ने, 30 से 45 वर्ष के बीच 178 लोगों ने, 45 से 60 वर्ष के बीच 60 लोगों ने जबकि 60 वर्ष से ऊपर चार लोगों ने आत्महत्या की है। वहीं महिलाओं में 18 से 30 वर्ष के बीच 25 महिलाओं ने, 30 से 45 वर्ष के बीच 22 महिलाओं ने, 45 से 60 वर्ष के बीच आठ महिलाओं ने जबकि 60 वर्ष से ऊपर दो महिलाओं ने आत्महत्या की है।

केस नम्बर-1
गुडम्बा थाना क्षेत्र में 22 जून-15 को अवध बिहारी गौतम पुत्र मंगरेलाल निवासी ग्राम न्यू छुईयापुरवा के 27 वर्षीय पुत्र धीरेंद्र नाथ गौतम ने पंखे में दुपट्टे के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया।

केस नम्बर-2
बंथरा थाना क्षेत्र में दो जून को दिवारी लाल मौर्या पुत्र स्व. मतऊ निवासी ग्राम गुलाबखेड़ा मजरा कुरौनी के 36 वर्षीय पुत्र शिव कुमार मौर्या गांव के पास बाग में पीपल के पेड़ की डाल मेें पैंट के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। शिव कुमार कैटर्स का कार्य करता था उसकी एक 12 वर्ष की पुत्री है।

केस नम्बर-3
विकासनगर थाना क्षेत्र में सरिता गुप्ता पत्नी दिलीप निवासी ग्राम मिर्जापुर सेक्टर एल अलीगंज के 25 वर्षीय पुत्र शनि गुप्ता ने कुंडे में साड़ी के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। शनि बिजली का काम करता था तथा अविवाहित था।

केस नम्बर-4
इन्दिरानगर थाना क्षेत्र में 15 जून-15 को प्रेम कुमार पुत्र प्रमोद कुमार रावत निवासी पानी गांव के 35 वर्षीय चाचा धीरेंद्र कुमार पुत्र चन्द्रपाल रावत ने अपने मकान में छत में लगे पंखे के कुंडे में तार के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।1

Pin It