स्वच्छ भारत और हमारे शहर

शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत अच्छा प्रदर्शन करने वाले शहरों की एक सूची जारी कर स्वच्छता की प्रतिस्पर्धा को भी बढ़ावा दिया है। सूची में कर्नाटक का मैसूर जिला पहले नंबर पर है। जबकि राजधानी दिल्ली चौथे पायदान पर रही।

प्रsanjay sharma editor5धानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत के बाद यह देश के स्वच्छ शहरों की पहली सूची है। इसके जरिए स्वच्छ शहरों को बढ़ावा देने की योजना है। साफ शहर सभी के लिए बेहतर साबित होंगे। इसी क्रम में यह सूची जारी की गयी। स्मार्ट सिटी बनाने की दिशा में भी यह स्वच्छ शहर बेहतर होंगे। शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत अच्छा प्रदर्शन करने वाले शहरों की एक सूची जारी कर स्वच्छता की प्रतिस्पर्धा को भी बढ़ावा दिया है। सूची में कर्नाटक का मैसूर जिला पहले नंबर पर है। जबकि राजधानी दिल्ली चौथे पायदान पर रही। यह सूची 10 लाख की आबादी वाले शहरों पर किए गए सर्वे के आधार पर तैयार की गई है। सबसे गंदा शहर धनबाद रहा। यह सूची स्वच्छता अभियान की दिशा में की गई एक पहल है।
दस साफ शहरों की सूची में दूसरे नंबर पर पंजाब का चंडीगढ़ और तीसरे नंबर पर तिरुचिपल्ली है। इन शहरों का चयन ठोस व तरल कूड़ा कचरा प्रबंधन, सीवर शोधन, बरसाती पानी की निकासी और अन्य कई मानकों के आधार पर किया गया। इसके बाद यह सर्वेक्षण रिपोर्ट तैयार किया गया है। इस रिपोर्ट के मुताबिक जो शहर शीर्ष पर हैं, उनके लिए अतिरिक्त बजट के साथ अन्य सभी केंद्रीय योजनाओं का लाभ भी दिया जा सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत पूरे देश को स्वच्छ बनाने का जिम्मा खुद जनता को सौंपा है। इसके लिए प्रधानमंत्री ने कई समूहों में देश की विशेष हस्तियों को मनोनीत किया है। इससे पहले देश के 20 स्मार्ट शहरों की सूची में चंडीगढ़ जैसा शहर नहीं शामिल हो सका था। स्वच्छ शहरों की सूची में मैसूर पहले नंबर पर रहा। इसी सूची में विशाखापट्टनम पांचवें नंबर पर, सूरत छठे नंबर पर, राजकोट सातवें नंबर पर, गंगटोक आठवें नंबर पर, पिंपरी चिंचवाड़ नवें और मुंबई दसवें नंबर पर है।
इस तरह से केंद्र सरकार ने स्वच्छ भारत अभियान को गंभीरता से लेने वाले शीर्ष 75 शहरों को मान्यता देने की तैयारी कर ली गई है। इस सूची में आने वाले शहरों के दो करोड़ लोगों से मिली प्रतिक्रिया के आधार पर इन शहरों को चुना गया। स्वच्छता अभियान को लेकर मोदी सरकार पहले से ही बहुत महत्वाकांक्षी रही है। इसके तहत सरकार ने जागरूकता अभियान भी चलाया है। स्वच्छ भारत अभियान सभी के लिए है। इससे देश में पर्यटन, रोजगार सहित बेहतर स्वास्थ्य की भी सोच पूरी होगी। ऐसे में यह सूची भारतीय शहरों को एक नई प्रेरणा देगी।

Pin It