स्वच्छता के लाभों की जानकारी देंगे सर्वे कर्मचारी

  • लोगों को साफ-सफाई के प्रति करेंगे जागरूक

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। केन्द्र सरकार ने शहरों में सफाई का सर्वे करने वाली टीम के लिए जनता को जागरूक करने का काम भी अनिवार्य कर दिया है। अब सफाई का सर्वे करने वाली टीम लोगों को स्वच्छता के लाभों के बारे में जानकारी देगी। इसके साथ ही लोगों को साफ-सुथरे माहौल में रहने के लिए प्रेरित करेंगे।
2016 की रैंकिंग में टॉप पर रहे मैसूर और दूसरे शहरों में सफाई को लेकर जागरूकता और मशीनरी के कामकाज पर पार्षदों को जानकारी दी जाएगी। इसमें केंद्र सरकार के एक्सपर्ट बेहतर सफाई और उसके फायदों के बारे में बताएंगे। कार्यक्रम में शहर के प्रमुख लोगों को भी आमंत्रित करने को कहा गया है। गौरतलब है कि शहरों की सफाई का सर्वे फिर शुरू होना है। इससे पहले केंद्र सरकार पार्षदों और अफसरों को सफाई का का मतलब भी समझाएगी। इसके लिए केंद्र ने अटल मिशन फॉर रिजुविनेशन एंड अर्बन ट्रांसफार्मेशन के तहत चुने गए प्रदेश के सभी 63 शहरों में सेमिनार करवाने का निर्देश दिया है। इसके तहत राजधानी समेत सभी शहरों में केंद्र के अफसर पार्षदों और नगर निकायों के अधिकारियों के साथ सफाई के मुद्दों पर राय मशविरा कर रहे हैं। इसकी रिपोर्ट भी केंद्र को भेजी जाएगी। नगर निगम के एन्वायरमेंट इंजीनियर पंकज भूषण ने बताया कि स्थानीय निकाय निदेशालय ने इसके लिए सभी चुने गए जिलों के डीएम को निर्देश जारी किए हैं। जिसको लेकर 6 अगस्त को सिटी सैनिटेशन रैंकिंग के बारे में पार्षदों को बताया जाएगा।

Pin It