स्टार्ट अप नीति को प्रभावी ढंग से लागू करें अधिकारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से आर्थिक विकास करते हुए उच्च जीवन स्तर वाले स्पन्दनशील समाज के विकास हेतु ‘उत्तर प्रदेश सूचना प्रौद्योगिकी एवं स्टार्ट अप नीति-2016’ को लागू करने का फैसला लिया गया है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्टार्ट अप की नीति को प्रभावी ढंग से लागू कराया जाए। यह जानकारी राज्य सरकार के प्रवक्ता ने देते हुए बताया कि सूचना प्रौद्योगिकी एवं स्टार्ट अप नीति-2016 के तहत उत्तर प्रदेश को भारत के उच्च वरीयता वाले राज्य के रूप में स्थापित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। नीति का मुख्य उद्देश्य सूचना प्रौद्योगिकी/सूचना प्रौद्योगिकी जनित सेवा क्षेत्र की कम्पनियों हेतु प्रदेश को निवेश की दृष्टि से एक आकर्षक स्थल बनाना है, जहां एक सौहार्दपूर्ण तथा इण्डस्ट्री फ्रैण्डली वातावरण उपलब्ध हो सके। प्रवक्ता ने बताया कि विभिन्न विभागों की कार्य कुशलता में सुधार लाने, सिटीजन चार्टर की मांगों को पूरा करने, पारदर्शिता तथा विभागों के उत्तरदायित्व में बढ़ोत्तरी के लिए ई-कार्यालय स्थापित किए जा रहे हैं।

इस नीति के तहत विभिन्न विभागों में कम कागज के उपयोग से कागज-विहीन (पेपर लेस) होने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

प्रथम चरण में इस एप्लीकेशन का उपयोग अवकाश स्वीकृति जैसे अंत:विभागीय कार्यों और सेवाओं के लिए किया जाएगा तथा द्वितीय चरण में इस एप्लीकेशन का क्रियान्वयन अंतर-विभागीय कार्यों एवं सेवाओं के लिए किया जाएगा।

Pin It