सेशन शुरू होने के साथ ही बदरंग हो गईं एलयू की दीवारें

  • दो छात्र संगठनों के बीच दीवारों पर अपनी पार्टी का नाम लिखने को लेकर हुई थी झड़प

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। लखनऊ विश्ववविद्यालय में अभी सेशन ठीक से शुरू भी नहीं हुआ है और एलयू की दीवारें बदरंग हो गई हैं। विवि की दीवार हो या गेट दोनों ही छात्र नेताओं की पार्टियों के प्रचार-प्रसार के काम आ रही है। कई सगंठनों के छात्रों ने अपनी अपनी पार्टियों का नाम विवि की दीवारों पर लिखवाकर उसे बदरंग कर दिया है। इस संबध में विवि प्रशासन भी चुप्पी साधे है।
विश्वविद्यालय में नए सत्र की शुरुआत के लिए विवि की दीवारों पर पेंट कराया गया था ताकि इससे विवि परिसर साफ और सुन्दर दिखे। यह सुन्दरता मुश्किल से दो दिन भी नहीं रही। विभिन्न सगंठनों ने इसे अपनी पार्टी के प्रचार-प्रसार के लिए इस्तेमाल कर डाला। गेट नम्बर एक से लेकर गेट नम्बर चार तक पूरी दीवारों पर पार्टियों का नाम लिखा हुआ है जिसकी वजह से दीवारें भद्दी लग रही हैं। यह वह संगठन है जो यह दावा करते हैं कि हमारी पार्टी विवि और छात्र हित में काम करती है। एक दूसरे की प्रतिस्पर्धा में यह भूल गये की दीवारों को रंगने से उनकी पार्टी का प्रचार तो हो रहा है लेकिन इससे उनके अपने विवि की सुन्दरता पर दाग लग रहा है। यही नहीं जिन पार्टियों ने जिस जगह अपनी पार्टी का नाम लिखा है वह उनकी प्रॉपटी हो जाती है। यदि उस जगह कोई और पार्टी का नाम लिखने की बात आती है तो यह इन पार्टी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ जाते हैं। विवि प्रशासन भी इनकी ऐसी हरकतों पर अनजान बना रहता है। इसी मामले में मंगलवार को दो छात्र संगठनों एबीवीपी व आइसा के कार्यकर्ताओं के बीच बहस बाजी हुई और मामला मार पीट तक पहुंच गया। आइसा के प्रदेश अध्यक्ष सुधांशु बाजपेई ने हसनगंज कोतवाली में तहरीर दी कि एबीवीपी संगठन के मंत्री सत्याभान सिंह ने फोन पर भी मारने की धमकी दी है। कोतवाली पहुंचे सत्यभान सिंह ने आरोपों को गलत कहा है।
यह कोई पहला मामला नहीं है इससे पहले जब भी छात्र चुनाव का दौर आता है तो इस प्रकार के विवाद होते रहते थे। कई सालों से छात्र चुनाव पर लगी रोक ने विवि की ऐसी समस्याओं को कम कर दिया था। इस बार चुनाव होने की आशा मात्र से ही छात्र अपनी अपनी पार्टीयों के प्रचार के लिए जी जान से जुटें हैं। छात्रों की ऐसी हरकतों से विवि की सम्पत्ती और साख दोनों ही मुश्किल में पड़ते दिखाई दे रहे हैं।

Pin It