सेना पर आतंकी हमला, हमने खोए 17 जवान

26 साल में पहली बार किसी आर्मी बेस पर बड़ा हमला

आज तक हमने किसी आतंकी हमले में नहीं खोए 17 जवान

बीस सालों में कश्मीर के इतने बुरे हालात नहीं हुए कभी सेना ने चार आतंकी मारे


4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

captureलखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पाकिस्तान में अचानक अपना जहाज उतारकर वहां के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को उनके जन्म दिन की बधाई देने गए और उसके कुछ दिन बाद ही पठानकोट एयरबेस पर आतंकियों ने हमला किया, जिनमें सात जवान श
हीद हो गए थे। कल पीएम मोदी का जन्मदिन था और आज सुबह आतंकियों ने कश्मीर के आर्मी ब्रिगेड हेडक्वार्टर पर हमला किया, जिसमें 17 जवान शहीद हो गए। कश्मीर के हालात बिगड़ते जा रहे हैं। भाजपा के सहयोग से बनी महबूबा मुफ्ती की सरकार हर मोर्चे पर फेल हो रही है। दो महीने से अधिक समय से कश्मीर में कफ्र्यू लगा हुआ है और लगभग सौ लोग वहां अपनी जान गवां चुके हैं। पिछले बीस सालों में कश्मीर के हालात इतने खराब कभी नहीं रहे। आज सुबह 17 जवानों के शहीद होने की खबर ने देश भर को दहला दिया।

सेना ने जवाबी कार्रवाई करते हुए चार आतंकियों को मार गिराया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अपना विदेशी दौरा रद्द करके आपातकालीन बैठक बुलाई है। रक्षामंत्री भी इस बैठक में भाग लेंगे। देश में सेना पर हो रहे आतंकी हमलों ने दहशत का माहौल बना दिया है। आईबी ने यूपी और उत्तराखंड के कुछ स्थानों पर हमले का एलर्ट जारी किया है, जिसके बाद सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।
आज सुबह लगभग चार से पांच बजे के बीच आतंकी पाकिस्तान सीमा से सटे उरी में आर्मी के ब्रिगेड हेडक्वार्टर में तार काटकर अंदर घुसे और एडमिनिस्ट्रेटिव बैरिक में आग लगा दी और सेना के जवानों पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में सेना ने भी फायरिंग की, जिसमें चार आतंकियों के मारे जाने की सूचना है।
आतंकी हमले का मुकाबला करने के लिए पैरा कमांडो की टीम को एयरड्राप किया गया। हमले की सूचना मिलते ही देश भर में हडक़ंप मच गया। स्थितियों की समीक्षा के लिए आपातकालीन बैठक बुलाई गई। कश्मीर के हालातों पर उच्चस्तरीय बैठक जारी है।

Pin It