सेना के शिविर पर फिर आतंकी हमला, तीन आतंकवादी ढेर

  • सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दूसरा बड़ा हमला, सेना की वर्दी में आए थे दहशतगर्द
  • तीन एके-47 राइफलें बरामद, दो अन्य आतंकियों के छिपे होने की आशंका सर्च अभियान जारी

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। पाकिस्तान में भारतीय फौज द्वारा किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद आतंकियों ने एक बार फिर सेना के शिविर को निशाना बनाया। आतंकियों ने हंदवाड़ा में राष्ट्रीय राइफल्स के कैंप पर हमला किया। जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकवादी मारे गए। हमला करने आए जवान वर्दी में थे। सेना का सर्च अभियान जारी है। क्षेत्र में दो आतंकवादियों के छिपे होने की आशंका जताई जा रही है।
आतंकियों ने गुरुवार को तडक़े हंदवाड़ा के 30 राष्ट्रीय राइफल्स कैंप पर अचानक गोलीबारी शुरू कर दी। आतंकवादी रूक-रूक कर फायरिंग कर रहे थे। सेना के जवानों ने तुरंत मोर्चा संभाल लिया। जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकवादी ढेर हो गए। किसी के घायल होने की खबर नहीं हे। घटनास्थल से तीन एके-47 राइफलें बरामद की गई हैं। तलाशी अभियान जारी है। इससे पहले रविवार को बारामूला के 45 राष्ट्रीय राइफल्स कैंप पर भी आतंकियों ने हमला किया था। यहां 90 मिनट चले ऑपरेशन में जवानों ने 2 आंतकी मार गिराए थे,

जिसमें एक जवान भी शहीद हो गया था। इस बीच आर्मी ने कश्मीर में एलओसी पार से घुसपैठ की तीन कोशिशों को भी नाकाम कर दिया। एक आर्मी अफसर ने बताया कि 5-6 अक्टूबर की दरम्यानी रात को नौगाम सेक्टर में दो और रामपुर सेक्टर में आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया गया। घुसपैठ को पाकिस्तानी पोस्ट से मदद मिल रही थी।

पीओके में आतंकी शिविरों के खिलाफ सडक़ पर उतरे लोग

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में चल रहे आतंकी शिविरों के खिलाफ लोग सडक़ पर उतर आए हैं। मुजफ्फरबाद, कोटली, चिनारी, मीरपुर, गिलगित और नीलम घाटी के लोग इनके खिलाफ जोरदार प्रदर्शन कर रहे हैं। ये वह इलाके हैं जहां आतंकी संगठन लश्कर-ए-तयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों को ट्रेनिंग दी जाती है। इन कैंपों को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और सेना का समर्थन है।

सुरक्षा का जायजा लेने जैसलमेर जाएंगे राजनाथ

पाकिस्तान से बढ़ते तनाव के बीच केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह आज शाम अन्तरराष्ट्रीय सीमा के निकट स्थित जैसलमेर जाएंगे। वे बाड़मेर भी जा सकते हैं। वह सात और आठ अक्टूबर को जैसलमेर में पाक सीमा से सटे राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे और हालात की समीक्षा करेंगे।

सेना के प्रयासों को राजनीतिक रंग देने में जुटी भाजपा

पीओके में पाक समर्थित आतंकियों के खिलाफ भारतीय फौज की सर्जिकल स्ट्राइक को भारतीय जनता पार्टी राजनीति रंग देने में जुटी है। इस सफलता पर न केवल पोस्टरों के जरिए पार्टी सेना को बधाई दे रही है बल्कि मोदी के छप्पन इंच के सीने को लेकर राजनीतिक संदेश भी देने में लगी हुई। दरअसल पार्टी सेना की सफलता को यूपी के आगामी विधानसभा चुनाव में भुनाना चाहती है और यही वजह है कि वह यूपी और अन्य राज्यों में इस तरह के पोस्टरों को चस्पा कर रही है। गौरतलब है कि सर्जिकल स्ट्राइक में भारतीय फौज ने पाक समर्थिक आतंकी शिविरों को पाकिस्तान में घुस कर ध्वस्त किए थे। इस अभियान में सेना ने सात आतंकी कैंपों को ध्वस्त किया था और करीब 50 आतंकियों को मौत के घाट भी उतार दिया था।

Pin It