सुप्रीम कोर्ट ने फिर जेल भेजा सहारा श्री सुब्रत रॉय को

  • मां छवि रॉय की मृत्यु पर सहारा प्रमुख को मिली थी डेढ़ महीने की पैरोल
  • आज खत्म हुई पैरोल बढ़ाने से न्यायालय का इंकार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
subrata_roy_jpg_1424443fलखनऊ। सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने रॉय की पैरोल बढ़ाने से इंकार करते हुए उन्हें जेल भेजने का आदेश दिया है। इसके बाद उन्हें तीन अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया। इससे कुछ दिनों तक और बाहर रहने की सहारा प्रमुख की उम्मीदों पर पानी फिर गया है।
सुप्रीम कोर्ट ने इससे पूर्व अपने एक आदेश के तहत सहारा प्रमुख की पैरोल की अवधि 23 सितंबर तक बढ़ाई थी। माना जा रहा था कि कोर्ट मानवीय आधार पर एक बार फिर उनकी पैरोल अवधि को आगे बढ़ा सकता है। लेकिन कोर्ट के ताजे फैसले से रॉय के समर्थकों में काफी निराशा दिखी। गौरतलब है कि सहारा प्रमुख को उनकी मां छवि रॉय की मृत्यु पर मानवीय आधार पर जेल से मई 2016 में पैरोल पर छोड़ा गया था। इसके बाद कोर्ट ने अगली सुनवाई के दौरान निवेशकों का धन लौटाने के लिये पैसे की व्यवस्था करने की अपील पर गंभीरता से विचार करने के बाद उनकी पैरोल जारी रखी थी। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश टी.एस ठाकुर की अध्यक्षता वाली पीठ ने 68 वर्षीय सुब्रत राय की पैरोल की अवधि बढ़ायी थी, जो आज खत्म हो गई। शुक्रवार को पैरोल बढ़ाने की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने रॉय की पैरोल बढ़ाने से साफ इंकार कर दिया। इससे पूर्व सुप्रीम कोर्ट ने सहारा समूह से कहा था कि वह यह खुलासा करें कि 25,000 करोड़ रुपए कहां से जुटायेंगे और वे निवेशकों को धन लौटाकर पाक-साफ हो जायेंगे। इस संदर्भ में न्यायालय ने आगे यह भी कहा था कि यह पचा पाना मुश्किल है, क्योंकि इतनी बड़ी राशि आसमान से नहीं टपक सकती। रॉय के मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला काफी अहम माना जा रहा है।

Pin It