सुप्रीम कोर्ट ने दिया मोदी सरकार को बड़ा झटका, कहा अरुणाचल में राज्यपाल ने अपनी शक्ति का किया दुरुपयोग

  • न्यायालय के आदेश पर फिर बनेगी कांग्रेस की सरकार, राहुल गांधी ने न्यायालय का शुक्रिया अदा किया 
  • उत्तराखंड के बाद अरुणाचल प्रदेश में मोदी सरकार की भारी किरकिरी, महंगा पड़ गया राज्य सरकारों को अस्थिर करने का षडय़ंत्र
  • सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की बेंच ने राज्यपाल के सभी फैसलों को ठहराया गलत, केजरीवाल ने कहा मोदी सरकार के मुंह पर करारा तमाचा

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को बड़ा झटका दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने अरुणाचल प्रदेश में बनी कलीखो पुल की सरकार को असंवैधानिक करार दिया है। इसके साथ ही कहा है कि राज्यपाल का फैसला असंवैधानिक था।
सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि राज्य में 15 दिसंबर 2015 जैसी स्थिति बहाल होगी। इसका मतलब यह है कि राज्य में कांग्रेस की सरकार फिर से बहाल हो जाएगी। क्योंकि उस दिन राज्य में कांग्रेस की सरकार थी और नबाम तुकी राज्य के मुख्यमंत्री थे। कोर्ट ने कहा कि राज्यपाल का समय से पहले विधानसभा बुलाने का फैसला, उसकी पूरी प्रक्रिया असंवैधानिक थी। सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक राज्यपाल ने अपनी शक्तियों का दुरुपयोग किया है। बता दें कि इससे पहले उत्तराखंड में भी सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद कांग्रेस की सरकार बहाल हुई थी। यह केंद्र सरकार के लिए दूसरा झटका है।
फरवरी में बनी थी नई सरकार
इसी साल कई महीनों के राजनीतिक संकट के बाद अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी के सहयोग से कांग्रेस के बागी नेता कलिखो पुल ने राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। कलिखो पुल को कांग्रेस के 19 बागी विधायकों का समर्थन और बाहर से 11 बीजेपी विधायकों और दो निर्दलीयों का समर्थन हासिल था। अरुणाचल में इससे पहले कांग्रेस की सरकार थी। विधानसभा में कांग्रेस के पास 47 सीटें थीं। लेकिन लगभग 20 विधायकों ने तुकी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया और इसी के बाद से राज्य में राजनीतिक संकट पैदा हो गया था। इसके बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किया गया और कलिखो पुल की सरकार बनाई गई थी।

Pin It