सुप्रीम कोर्ट ने आय से अधिक मामले में यादव परिवार को दी राहत

  • 1977 में पहली बार मुलायम सिंह यादव मंत्री बने तब लेकर 2005 तक उनकी संपत्ति सौ गुना बढ़ गई थी
  • फिलहाल मुलायम सिंह को कोर्ट से मिली राहत

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
2नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव को आय से अधिक संपत्ति मामले में बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने मुलायम सिंह यादव पर आय से अधिक संपत्ति जमा करने के आरोपों के मामले में सीबीआई जांच कराने की मांग करने वाली याचिका खारिज कर दी है।
याचिकाकर्ता विश्वनाथ चतुर्वेदी ने याचिका दाखिल कर मामले में नियमित एफआईआर दर्ज करने की मांग की थी। कोर्ट में याचिकाकर्ता ने कहा कि 2007 में उनके आरोपों पर सीबीआई ने प्राथमिक जांच में मामला बनने की बात भी कही थी, फिर भी अभी तक नियमित केस दर्ज नहीं किया गया। चतुर्वेदी ने कहा कि चार अलग-अलग अर्जियों पर 10 फरवरी 2009 को सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था।
2005 में विश्वनाथ चतुर्वेदी ने सुप्रीम कोर्ट में मुख्य याचिका दायर कर कहा था कि 1977 में जब मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश में पहली बार मंत्री बने थे, तब से लेकर 2005 तक उनकी संपत्ति करीब 100 गुना ज्यादा बढ़ गई थी। ऐसे में इस बात की जांच होनी चाहिए कि आखिर इतनी संपत्ति उन्होंने और उनके परिवार ने कैसे अर्जित कर ली। फिलहाल सुप्रीम कोर्ट के फैसले से निश्चित तौर पर यादव परिवार को राहत मिली है। इस समय वैसे भी यादव परिवार के बीच घमासान मचा हुआ है, जिसे सुलझाने की लाख कोशिशों के बाद भी मामला सुलझता नहीं दिख रहा है।

Pin It