सीएम पहुंचे फिर पिता के घर, सुलह की चर्चा तेज

लखनऊ से दिल्ली तक आज भी जारी है यादव महासंग्राम

captureलखनऊ। यादव परिवार में चल रहा महासंग्राम आज भी जारी रहा। रामगोपाल यादव ने दिल्ली में निर्वाचन आयोग में कहा कि 90 प्रतिशत विधायक, सांसद और पार्टी के लोग अखिलेश यादव के साथ हैं। लिहाजा साइकिल चुनाव चिन्ह् उन्हीं को दिया जाना चाहिए। आजम खां ने भी दिल्ली जाकर नेता जी से मुलाकात की और कहा कि मुस्लिम समाज कभी नहीं चाहता कि समाजवादी पार्टी में विभाजन हो। यह घटनाक्रम चल ही रहा था कि सीएम अखिलेश यादव अपने पिता मुलायम सिंह यादव के घर पहुंचे। उनके पिता के घर पहुंचने से चर्चाएं तेज हो गईं कि अब पार्टी में फिर एक बार सुलह का रास्ता निकल सकता है।
सपा मुखिया ने भी तत्काल दिल्ली गये सभी नेताओं को अपने निवास पर वापस बुला लिया है। सीएम ने आज सुबह अपने घर पर अपनी कोर कमेटी के लोगों से मुलाकात की और उन्हें समझाया कि किसी भी कीमत पर नेताजी के सम्मान को कोई ठेस नहीं पहुंचनी चाहिए। इस बीच नेताजी की 1 जनवरी को जारी दो चिट्ïिठयों में हस्ताक्षर अलग-अलग होने से चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया। सपा महासचिव किरनमय नंदा ने कहा कि कुछ लोग नेताजी के गलत हस्ताक्षर से फर्जी चिट्ïठी जारी कर रहे हैं। जाहिर है अभी यादव परिवार के संग्राम में कई मोड़ आने बाकी हैं।

Pin It