सीएम ने दिया वॉक ऑफ होप से शांति का संदेश

आपसी सद्ïभाव और भाईचारे को बढ़ाने के लिये हुआ कार्यक्रम का आयोजन

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कश्मीर से कन्या कुमारी तक पदयात्रा कर भाईचारा और शांति का संदेश देने वाले वॉक ऑफ होप का आज मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने स्वागत किया। मुख्यमंत्री ग्रीन पार्क स्टेडियम कानपुर में हो रहे पदयात्रा के इस स्वागत समारोह में मुख्य अतिथि भी हैं। इस पदयात्रा का उद्देश्य देश के सभी नागरिकों के बीच शान्ति, सद्भाव एवं आपसी भाईचारे को बढ़ावा देकर मानवता के संदेश का प्रचार-प्रसार करना है।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज ग्रीन पार्क स्टेडियम कानपुर में हो रहे पदयात्रा के इस स्वागत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। आध्यात्मिक मार्गदर्शक, समाज सुधारक एवं शिक्षाविद् एम. ने इस यात्रा के लिए मुख्यमंत्री के सहयोग और समर्थन के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश में इस यात्रा के अनुभव को सुखद और सराहनीय बताया है।
उत्तर प्रदेश में 5 दिसम्बर को इस यात्रा ने प्रवेश किया था। इसके द्वारा एक वर्ष में 5 हजार 250 किमी की दूरी तय की गई है। यह यात्रा तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश से गुजर चुकी है। यह पद यात्रा साम्प्रदायिक सौहार्द और मानव एकता को मजबूत करेगी।
गौरतलब है कि एम के नेतृत्व में कन्याकुमारी से कश्मीर तक लगभग 7,500 किमी की वॉक ऑफ होप पदयात्रा पिछले साल 12 जनवरी को शुरू की गई थी, जो 12 जनवरी को एक वर्ष पूरा कर रही है। कानपुर जिले में इस यात्रा का प्रवेश फतेहपुर में सात जनवरी को हुआ था। 10 जनवरी को कानपुर में इस यात्रा के दौरान कैण्डिल लाइट मार्च और गंगा आरती भी की गई थी। इसके पहले मानव एकता मिशन पदयात्रा में शामिल कुछ सदस्यों ने 19 नवम्बर को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात कर इस यात्रा के उद्देश्यों के बारे में जानकारी दी थी। मुख्यमंत्री ने यात्रा के उद्देश्यों की सराहना करते हुए यात्रा के कानपुर पहुंचने पर इस अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में शामिल होने की सहमति दी थी। उत्तर प्रदेश में 67 दिनों की यह पदयात्रा में 913 किमी दूरी का सफर 13 जिलों में तय करेगी। उत्तर प्रदेश में इस यात्रा का समापन 11 फरवरी को होगा। इसके बाद यह पदयात्रा दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और कश्मीर तक जाएगी।

Pin It