सीएम केजरीवाल ने सामने रखा ऑड-इवन फॉर्मूला का ब्लूप्रिंट

ट्रैफिक पुलिस से मांगा सहयोग
दिल्ली। दिल्ली में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए दिल्ली सरकार ने आज ऑड-इवन फॉर्मूले का ब्लूप्रिंट सामने रखा। सीएम केजरीवाल ने संवाददाता सम्मेलन कर इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि सोमवार को इसकी अधिसूचना जारी हो जाएगी। 1 जनवरी से 15 जनवरी तक इसे ट्रायल के तौर पर लागू किया जाएगा। सीएम केजरीवाल ने कहा कि नियम तोडऩे पर जुर्माना लगेगा। 1 जनवरी से 15 जनवरी तक नियम लागू हो जाएगा। नियम तोडऩे पर 2000 रुपये का जुर्माना नियत किया गया है।

इन गाडिय़ों पर नियम लागू नहीं
सीएनजी वाहनों पर नियम लागू नहीं होगा। लेकिन सीएनजी वाहनों पर स्टीकर लगाना होगा। राष्टï्रपति ,उपराष्टï्रपति, प्रधानमंत्री, चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया, लोकसभा स्पीकर, राज्यसभा स्पीकर, डिप्टी स्पीकर, केंद्रीय मंत्रियों, विपक्षी दलों के सांसदों और सुप्रीम कोर्ट के जजों की गाडिय़ों पर ये नियम लागू नहीं होंगे। लेफ्टिनेंट गवर्नरों की गाडिय़ों पर भी ये नियम लागू नहीं किया जाएगा। सीएम केजरीवाल ने कहा कि फिलहाल ये नियम दोपहिया वाहनों पर लागू नहीं है लेकिन ट्रायल के सकारात्मक नतीजे आने के बाद उनपर भी ये नियम लागू किए जाएंगे।

दिल्ली में हैं 50 लाख दोपहिया वाहन
राजधानी में 50 लाख दोपहिया वाहन हैं, जो लगभग 90 लाख वाहनों का एक बड़ा हिस्सा हैं। शहर की हवा में बढ़ते जहर ने न्यायपालिका को कठोर कदम उठाने की मांग के लिए प्रेरित किया। वाहनों का सम-विषम फॉर्मूला सीएनजी से चलने वाले सार्वजनिक वाहनों व आपात वाहनों जैसे एंबुलेंस पर लागू नहीं होगा। उल्लेखनीय है कि दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को सरकार से कहा कि सम-विषम फॉर्मूले के क्रियान्वयन के दौरान शारीरिक रूप से अक्षम यात्रियों की चिंता पर विचार करें।

रविवार को मिलेगा छूट
केजरीवाल ने बताया कि रविवार को ये नियम किसी भी गाड़ी पर लागू नहीं होगा। सोमवार से शनिवार तक सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक फॉर्मूला लागू होगा। सीएम केजरीवाल ने इसे लागू करने के लिए सभी का सहयोग मांगा। केजरीवाल ने ट्रैफिक पुलिस से इसे लागू करने में सहयोग की अपील की। केजरीवाल ने कहा कि प्रदूषण का खतरनाक स्तर दिल्ली में है और इसे कम करने की जिम्मेदारी हम सबकी है।

Pin It