सीएम अखिलेश ने आज फिर कहा शिवपाल से, मुख्तार को पार्टी में लाने से होगी देश भर में बदनामी

  • शिवपाल यादव आज मिले सीएम से और की एक घंटे बातचीत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। पिछले एक हफ्ते से राजनीतिक गलियारों में सीएम अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच मतभेद की खबरें चर्चा का विषय बनी हुई थीं। शिवपाल यादव के इस्तीफे के ऐलान और उसके बाद नेताजी का यह कहना कि शिवपाल के खिलाफ राजनीतिक साजिश हो रही है और चर्चाओं को बल दे गया। परसों जब शिवपाल कैबिनेट मीटिंग में नहीं पहुंचे तो और हंगामा मचा। इस बीच कल जब सीएम अखिलेश अपनी चचेरी बहन से राखी बंधवाने शिवपाल यादव के घर पहुंचे तो इन चर्चाओं पर विराम लगा। इसके बाद आज सुबह शिवपाल यादव सीएम से मिलने पहुंचे और एक घंटे तक दोनों के बीच लंबी गुफ्तगू हुई।
सूत्रों का कहना है कि सबसे बड़ा विवाद कौमी एकता दल के सपा में विलय को लेकर है। शिवपाल यादव ने यह विलय कराया था, मगर सीएम के अड़ जाने के बाद यह विलय टूट गया था। इससे शिवपाल यादव बेहद आहत हुए थे। ये नाराजगी छोटी-छोटी घटनाओं पर बढ़ती चली गई। कुछ दिन पहले शिवपाल यादव ने कहा था कि पार्टी के लोग जमीनों पर कब्जा कर रहे हैं और अफसर उनकी नहीं सुन रहे हैं, लिहाजा वह पार्टी से इस्तीफा दे देंगे। इसके बाद सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल का पक्ष लेते हुए कहा कि अगर शिवपाल बाहर चले गए तो सरकार और पार्टी दोनों के लिए बहुत परेशानी हो जाएगी। नेताजी के इस बयान के बाद चर्चा तेज हो गई कि कौमी एकता दल का सपा में विलय करा दिया जायेगा। सीएम इस बात पर अड़ गए कि मुख्तार अंसारी जैसे माफियाओं को पार्टी में शामिल कराने से देश भर में पार्टी की छवि पर खराब असर पड़ेगा।
सूत्रों का कहना है कि आज शिवपाल से एक घंटे की बातचीत में सीएम ने उन्हें समझाने की कोशिश की कि मुख्तार की पार्टी को शामिल कराने से भले ही कुछ सीटों पर फायदा मिल जाए, मगर देश भर में पार्टी की छवि पर बहुत खराब असर पड़ेगा।

Pin It