सिविल अस्पताल के बाल रोग विभाग में सर्वर ठप, मरीज हुए परेशान

  • ओपीडी में दोपहर बाद ठीक हो पाया सर्वर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सिविल अस्पताल के बाल रोग विभाग में बुधवार को सर्वर ठप हो गया, जिससे वहां पर्चा नहीं बन सका। मेन ओपीडी में भी सर्वर ने लोगों को बहुत रुलाया। सर्वर धीमा चलने के कारण मरीजों को ओपीडी का पर्चा बनवाने में भारी मशक्कत का सामना करना पड़ा। मरीज घंटों लाइन में खड़े रहने को मजबूर रहे। दोपहर बाद सर्वर ठीक होने के बाद मरीजों के पर्चें बन पाये। तब मरीजों और कर्मचारियों ने राहत की सांस ली।
सिविल अस्पताल में बुधवार सुबह ओपीडी काउंटर पर मरीजों की भीड़ लगी रही। इसका सबसे बड़ा कारण सर्वर धीमा चलना था। इसलिए मरीजों को पर्चा बनाने में समय लग रहा था। एक पर्चा बनाने में कम से कम पांच मिनट का समय लग रहा था, जिससे पर्चा काउंटर पर तैनात कर्मचारी भी परेशान हो गए। पर्चा धीमा बनने के कारण मरीज और उनके तीमारदार घंटों लाईन में खड़े रहने को विवश रहे। मरीजों के सब्र का बांध लगभग एक बजे के करीब टूट गया। मरीजों नेे पर्चा जल्दी न बनने पर हंगामा शुरू कर दिया। टेक्नीशियन ने दोपहर बाद सर्वर को ठीक किया, तब मरीजों और तीमारदारों ने राहत की सांस ली। लाईन में लगे मरीजों को डर था कि डॉक्टर यदि उठ जाएंगे, तो वह आज ओपीडी में नहीं दिखा सकेंगे। इसलिए मरीज और उनके तीमारदार खासे परेशान दिखाई दिए। लगभग सवा एक बजे के करीब सर्वर ठीक होने के बाद मरीजों के पर्चे बेहतर ढंग से बन सके। बाल रोग विभाग के मरीज भी पर्चा बनवाने के लिए ओपीडी काउंटर पर जमे रहे।

“सर्वर धीमा चलने की सूचना मिली थी, लेकिन उसे सूचना मिलने के कुछ समय बाद ही ठीक करा लिया गया था। मरीजों को थोड़ी परेशानी जरूर हुई थी। लेकिन तकनीकी गड़बड़ी के कारण काम प्रभावित हुआ था, इसमें कुछ भी नहीं किया जा सकता है। “
-डॉ. आशुतोष दुबे, चिकित्सा अधीक्षक, सिविल अस्पताल

Pin It