सिविल अस्पताल का होगा कायाकल्प

आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा सिविल अस्पताल
सरकार की ओर से दिया गया है 10 करोड़

Capture 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के आदर्श अस्पतालों में शुमार सिविल अस्पताल अब आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा। इसके आलावा अस्पताल में 10 मंजिला बिल्डिंग का निर्माण किया जायेगा जिसमें मरीजों के लिए तमाम सुविधायें दी जाएंगी। इसके लिए प्रदेश सरकार की ओर से 10 करोड़ का बजट भी जारी कर दिया गया है। शासनादेश होने के बाद नई बिल्डिंग के निर्माण का काम शुरू हो जायेगा।
गौरतलब है कि सिविल अस्पताल में पार्किंग की सुविधा नहीं है। यह अस्पताल शहर के अति व्यस्त इलाके हजरतंगज में होने के कारण यहां पर भीड़ बहुत रहती है जिससे मरीजों को आने जाने में परेशानी होती है। सिविल अस्पताल के मेन गेट पर लोगों की आवाजाही से अक्सर एंबुलेंस फंस जाती है जिससे मरीजों की जान जाने का खतरा भी बना रहता है। इस समस्या से निजात दिलाने के लिए कई सालों से सिविल अस्पताल और सूचना विभाग की दीवार को तोडक़र एक में मिलाने की बात चल रही है लेकिन किसी कारण वश अभी तक ऐसा संभव नहीं हो पाया। सिविल अस्पताल के सीएमएस डॉ. राजेश ओझा ने बताया कि सूचना विभाग की जगह पर ही सिविल अस्पताल की न्यू बिल्डिंग का निर्माण होना है।

सिविल अस्पताल की न्यू बिल्डिंग के लिए सरकार की ओर से 10 करोड़ रुपये का बजट दिया गया है। शासनादेश मिलने के बाद न्यू बिल्डिंग का निर्माण शुरू हो जायेगा। सिविल अस्पताल की न्यू बिल्डिंग आधुनिक सुविधाओं से लैस व बहुत खूबसूरत होगी। इसका डिजाइन भी तैयार कर लिया गया है।
– डॉ. राजेश ओझा, सीएमएस, सिविल अस्पताल

क्या-क्या होंगी सुविधाएं

अस्पताल के सीएमएस डॉ. राजेश ओझा ने बताया कि सिविल अस्पताल में सबसे बड़ी समस्या पार्किंग की है। न्यू ओपीडी बिल्डिंग बनने के बाद पार्किंग की समस्या खत्म हो जायेगी। इसके आलावा डायलिसिस यूनिट की शुरुआत की जायेगी ताकि डायलिसिस के लिए आने वाले मरीजों को लौटना न पड़े। सिविल में भी अभी एमआरआई जांच की सुविधा नहीं है। न्यू बिल्डिंग बनने के बाद यहां पर एमआरआई जांंच भी शुरू हो जायेगी। इस सुविधा के शुरू होने से न्यूरो के मरीजों को काफी सहूलियत हो जाएगी। उन्होंने कहा कि मरीजों को पैथालॉजी में लंबी लाइन नहीं लगानी पड़ेगी क्योंकि न्यू बिल्डिंग बनने के बाद नई पैथालॉजी लैब में ऑटोएनालाइजर लगाये जाएंगे जिससे पैथालॉजी रिपोर्ट जल्दी और क्लियर आएगी। साथ ही प्राइवेट वार्ड भी बनाये जोएंगे जिससे मरीजों को सुविधा मिल सके।

बनेगा नया ऑडिटोरियम

सिविल अस्पताल में किसी भी कार्यक्रम को कराने के लिए ऑडिटोरियम की व्यवस्था नहीं है, जिसके कारण मजबूरी में अस्पताल के वार्डों में कार्यक्रम कराने पड़ते हैं। इससे मरीजों को दिक्कत तो होती ही है चिकित्सकीय कार्य भी प्रभावित होते हैं। न्यू ओपीडी बिल्डिंग में नये ऑडिटोरियम का भी निर्माण होना है। इसके आलावा नई ओटी का भी निर्माण होगा क्योंकि सिविल अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर काफी पुराने हो गये हैं। डॉक्टरों को ऑपरेशन करने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसलिए नई ओटी का निर्माण होना है।

Pin It