सिटी ब्रीफ

डीजी हेल्थ के दौरे में मिलीं खामियां

लखनऊ। डीजी हेल्थ डा. विजयलक्ष्मी ने शुक्रवार को राजाजीपुरम स्थित रानी लक्ष्मीबाई अस्पताल का औचक निरीक्षक किया, जिसमें तमाम खामियां मिली। जबकि दो दिन पहले राजाजीपुरम स्थित रानी लक्ष्मीबाई अस्पताल में हुए स्वास्थ्य मंत्री के औचक निरीक्षण के दौरान तमाम खामियां और मरीजों की ओर से कई शिकायतें मिली थी।
्रस्वास्थ्य मंत्री के निरीक्षण में मिली खामियों पर मंत्री ने अस्पताल के सीएमएस डॉ. एम.एन. सिंह को हटाने का आदेश दिया था। बावजूद इसके अस्पताल के डॉक्टर और कर्मचारी सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। शुक्रवार को डीजी हेल्थ डॉ. विजयलक्ष्मी के दोबारा औचक निरीक्षण में अस्पताल में गंदगी का अंबार मिला। इसके बाद एक मरीज ने डीजी हेल्थ से बाहर की दवाएं लिखी जाने की शिकायत की। मरीज ने डॉ. आरके चौधरी पर बाहर से दवाएं लिखने का आरोप लगाया। उसके बाद डीजी हेल्थ ने डॉक्टर आरके चौधरी को चेतावनी देकर छोड़ दिया। हैरत की बात ये रही कि डीजी हेल्थ ने डॉ. आरके चौधरी को कार्यवाहक सीएमएस नियुक्त किया है।
क्वीन मेरी अस्पताल में पानी का संकट

लखनऊ। केजीएमयू के क्वीन मेरी में फिर से पानी का संकट गहरा गया है। पिछलेदो दिनों से अस्पताल में पानी नहीं आ रहा है, जिससे मरीजों और उनके तीमारदारों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अभी लगभग एक सप्ताह पूर्व क्वीन मेरी अस्पताल में मोटर के खराब होने से पानी की गंभीर समस्या खड़ी हो गई थी।
करीब एक हफ्ते बाद क्वीन मेरी अस्पताल में फिर से पानी की समस्या खड़ी हो गई है, जिसके चलते मरीजोंं और तीमारदार एक-एक बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। अस्पताल में सेकेंड फ्लोर से लेकर फस्र्ट फ्लोर तक मरीज और तीमारदार पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। रायबरेली निवासी राम जी पिछले 5 दिन से अस्पताल में हैं। उनकी भाभी यहां पर भर्ती हैं। रामजी ने बताया कि पिछले दो दिनोंसे पानी की गंभीर समस्या है। ठंडा पानी तो जैसे सपना हो गया है। बाथरूम से लेकर रसोई और वार्डों में पानी नहीं आ रहा है। लेबर रूम के बाहर वाला नलकूप भी खराब पड़ा है। मेन गेट पर लगा नलकूप अक्सर खराब हो जाता है। भयंकर गर्मी में मरीजों को बाहर से खरीदकर पानी पीना पड़ रहा है। इस संबंध में केजीएमयू के डिप्टी सीएमएस डॉ. वेद ने कहा कि -पानी की समस्या का पता चला है, बहुत जल्दी सिस्टम को सही करवाया जायेगा।

Pin It