सिटी ब्रीफ

दिन में भी रास्ता दिखा रहीं स्ट्रीट लाइटें

लखनऊ। जहां एक ओर सूबे के कई गांवों में रात के समय में लोगों को बिजली नसीब नहीं हो पा रही है, वहीं दूसरी ओर शहर में बिजली को यू हीं जाया किया जा रहा है। जिम्मेदार विभागों के अधिकारियों के लिए शायद इसकी कीमत समझ से परे हैं। इसी वजह से बार-बार शिकायतों के बाद भी नगर निगम का मार्ग प्रकाश विभाग अपनी गलतियों को दोहराता नजर आ रहा है। वहीं बिजली विभाग के मुख्य अभियंता एसके वर्मा की चेतावनी ने जरूर कुछ असर दिखाया है, जिसकी वजह से दिन में जलने वाली स्ट्रीट लाइटों को लेकर कड़ी कार्रवाई का निर्णय लिया गया है।
गोमतीनगर जोन-4 अंतर्गत हुसडिय़ा चौराहे के पास शहीद पथ पर लगी स्ट्रीट लाइटें बीते कुछ दिनों से अक्सर रात के अलावा दिन में भी जलती रहती थी। इस बारे में कई बार क्षेत्रीय निवासियों और राहगीरों की तरफ से शिकायत की जा चुकी है लेकिन जिम्मेदार विभाग के अधिकारी समय से लाइट बुझाने का काम नहीं करते हैं। नतीजतन रोड लाइटें जलती रहती है। आज सुबह करीब 8 बजे किसी ïव्यक्ति की शिकायत पर लेसा चीफ एसके वर्मा शहीद पथ का निरीक्षण करने पहुंचे, वहां जाने पर सारी रोड लाइटें जलती मिलीं। इसको नगर निगम के मार्ग प्रकाश विभाग की घोर लापरवाही मानकर लेसा चीफ ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये, जिसमें स्पष्ट कहा गया कि इस तरह बिजली की बरबादी राष्ट्रहित को नुकसान पहुंचाने वाला कार्य है। यदि आगे से स्ट्रीट और रोड लाइट जलती पाई गई, तो संबंधित विभाग के खिलाफ कड़ी कार्रवाी की जायेगी। इसके बाद नगर निगम के अभियंता हरकत में आये। क्षेत्रीय अवर अभियंता सूर्य विक्रम सिंह का कहना है कि उन्होंने मंगलवार को सुबह ९:३० बजे स्वयं शहीद पथ पर जाकर लाइटें बंद करवायी हैं। जो लाइटें सुबह छह बजे बंद होनी चाहिए थी। उन्हें ९:30 बजे बंद किया गया। इससे साफ जाहिर होता है कि संबंधित विभाग कितनी मुस्तैदी से अपने कार्य को अंजाम दे रहा है।
विश्वनाथ मंदिर में वीआईपी के लिए बनेगा अलग रास्ता
लखनऊ। वाराणसी स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर में वीआईपी लोगों के दर्शन के लिए अलग से रास्ता बनाया जायेगा। इसके साथ ही ऑन लाइन टिकटों की बुकिंग भी कराई जायेगी। इसकी तैयारी जोर-शोर से चल रही है। मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था को अभेद्य करने की कोशिशें लगातार चल रही हैं। यहां आने वाले वीआईपी लोगों की संख्या और उनकी सुरक्षा को ध्यान में रखकर नई व्यवस्था लागू करने का निर्णय लिया गया है, जिसमें काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के लिए टिकटों का प्रबंध किया जायेगा। यह टिकट ऑन लाइन बुक करवाने की व्यवस्था भी की जा रही है। जिसमें दर्शनार्थियों को टिकटों की बुकिंग में कोई असुïिवधा न हो, इसके लिए वेबसाइट पर टिकटों की बुकिंग की प्रक्रिया आसान करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके साथ ही मंदिर में वीआईपी लोगों को दर्शन करवाने के लिए अलग से रास्ता बनाने की कोशिशें भी की जा रही हैं। बहुत जल्द वाराणसी स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर का दर्शन करने के लिए वीआीपी लोगों को अलग मार्ग से ले जाया जायेगा। इसे सुरक्षा की दृष्टि से प्रशासन की 55तरफ से किया जा रहे प्रशंसनीय कार्य से रूप मेें देखा जा रहा है।

Pin It