सिटी ब्रीफ

सडक़ हादसे में एक की मौत, दो घायल

लखनऊ। काकोरी में दुबग्गा मंडी के पास खम्भों से लदी ट्राली में पीछे आ रही तेज रफ्तार इंडिगो कार जा घुसी। हादसे में एक युवक की मौत हो गई जबकि दो लोग घायल हो गए। काकोरी एसओ राम नरेश यादव ने बताया कि बिजली के खम्भों से लदा ट्रैक्टर ट्राली काकोरी से लखनऊ जा रहा था, तभी रास्ते में दुबग्गा मंडी के पास तेज रफ्तार इंडिगो कार ट्रैक्टर ट्राली में जा घुसी। हादसे में कार सवार तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल को ट्रामा सेन्टर भेजा। जहां पर डॉक्टरों ने जरौवा बेनीगंज जिला हरदोई निवासी रोहित सिंह (२०) को मृत घोषित कर दिया, जबकि सुजीत तिवारी व शुभम की हालत गंभीर बतायी जा रही है। मुंशी दयाराम ने बताया कि कार सवार सभी युवक शराब के नशे में थे।

करंट की चपेट से संविदा कर्मी की मौत
लखनऊ। पीजीआई इलाके में बुधवार सुबह बिजली ठीक करने खम्भे पर चढ़े संविदा कर्मी का पैर फिसलने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसकेसाथी उसे पास के निजी अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पीजीआई एसओ विनोद कुमार यादव ने बताया कि सेक्टर- नौ के पावर हाउस में संविदाकर्मी सुरेश मौर्य (३०) बिजली ठीक करने को वृन्दावन के सेक्टर- छह नीलमथा रोड पर चढ़ा था। बताया कि खम्भे पर चढऩे के दौरान उसका पैर फिसल गया, जिससे वह नीचे गिर गया। हादसे में उसके सिर पर गंभीर चोटे आयीं। अन्य साथी उसे अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
अयोध्या में शौर्य प्रशिक्षण मामले में बजरंग दल के खिलाफ केस दर्ज
लखनऊ। अयोध्या में शौर्य प्रदर्शन के दौरान हथियारों की ट्रेनिंग देने के मामले में फैजाबाद कोतवाली में बजरंग दल और उनके कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस ने धारा 153 के तहत मामला दर्ज किया है। बजरंग दल की ट्रेनिंग के दौरान दंगाइयों और आतंकियों को एक वर्ग विशेष के रूप में दिखाने के मामले में एफआईआर दर्ज की हुई है।
बजरंग दल पर समाज में नफरत घोलने का आरोप है। बता दें कि सोमवार को अयोध्या में बजरंग दल ने शौर्य प्रदर्शन किया था बाद में राज्य के राज्यपाल राम नाईक ने भी इसका समर्थन किया था और इसी के बाद इस मुद्ïदे पर राजनीति भी गरमा गई है। बजरंग दल के खिलाफ केस दर्ज करने को लेकर सियासत भी तेज हो गई है। बीजेपी जहां इसका विरोध कर रही है तो कांग्रेस और जेडीयू इसे देर से उठाया गया सही कदम बता रहे हैं।

Pin It