सिटी ब्रीफ

बच्चों के लिए आर्ट वीक का आयोजन
लखनऊ। रेखाओं से ही शब्द बनते है बिना रेखा के कोई शब्द कोई अक्षर नहीं बन सकता। किसी भी आकार को बनाने के लिए रेखा की अवश्यकता पड़ती है। कोई भी आकार हो बिना रेखा के संभव ही नहीं हैं। हमें बच्चों में कला के प्रति भी ध्यान देना होगा बच्चों को कभी रेखाएं खींचते हुए देखे तो बहुत ही सरल सहज लगती है ,जिसके द्वारा वे अपनी बात हम तक पहुंचते है उनमे कोई दिमाग नहीं लगात विज्ञान भूगोल सरे विषय भी कला के बिना उनका कोई महत्व नहीं है। आज विज्ञापन का हमारे जीवन में महत्व है। जो कला की ही महत्वपूर्ण देन है। विज्ञापन के द्वारा ही लोग उसे देख कर उस प्रोडक्ट के बारे में आसानी से समझ जाते हैं। उक्त बातें मंजरी इंस्टिट्यूट आफ म्यूजिक एंड फाइन आट्र्स निराला नगर लखनऊ में चल रहे आर्ट वीक के दौरान आज कल संगोष्ठी हुई जिसमे कला स्रोत आर्ट गैलरी के क्यूरेटर एवं युवा चित्रकार भूपेंद्र कुमार अस्थाना ने सम्बोधित करते हुए लोगों से कही। इस मौके पर मजरी इंस्टिट्यूट सभी ब्रांचों कला के छोटे बड़े बच्चे और अभिभावक उपस्थित मौजूद रहे एइस संगोष्ठी में बच्चों को कार्टून कैरिकेचर और कुछ कलाकारों के आर्टवर्क दिखाया। जिससे बच्चों को आर्टवर्क के प्रति प्रोत्साहित किया गया।

अधिवक्ता भवन में अश्लील डांस प्रकरण की होगी जांच
लखनऊ। मण्डलायुक्त महेश कुमार गुप्ता ने अधिवक्ता भवन परिसर में होली मिलन कार्यक्रम के दौरान अश्लील डांस प्रकरण की मजिस्टीरियल जांच का आदेश दिया है। इसमें अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व धनंजय शुक्ला को जांच अधिकारी नामित किया गया है। उन्हें प्रकरण की विस्तृत जांच रिपोर्ट तैयार कर महीने भर के अंदर सौंपने का आदेश दिया गया है। मण्डलायुक्त कार्यालय के अंदर अधिवक्ता भवन परिसर में होली कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर महिला डांसरों को बुलाया गया था। कार्यक्रम के दौरान अश्लील डांस भी कराया गया था। इस मामले को गंभीरता से लेकर मण्डलायुक्त ने मामले की मजिस्टीरियल जांच का आदेश दिया है। उन्होंने तीन बिन्दुओं को जांच में शामिल करने का निर्देश दिया है। इसमें आयुक्त कार्यालय परिसर में नृत्य प्रदर्शन एवं आर्केस्ट्रा आयोजन के लिए अधिवक्ताओं ने पूर्व में अनुमति ली या नहीं, इस आयोजन में आयुक्त कार्यालय के कर्मचारियों और अधिकारियों ने भाग लिया या नहीं और इस कार्यक्रम का आयोजक कौन था इसकी जांच की जायेगी। इसी आधार पर उत्तरदायी व्यक्ति की पहचान की जायेगी। मण्डलायक्त महेश कुमार गुप्ता ने कहा कि शासकीय परिसर में इस प्रकार का आयोजन किया जाना नितान्त आपत्तिजनक एवं गरिमा के प्रतिकूल है। इसलिए पूरे प्रकरण में जांच रिपोर्ट आने के बाद जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

बीबीएयू में योग की पढ़ाई भी कर सकेंगे छात्र
लखनऊ। बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय में अब योग में डिप्लोमा शुरू किया जा रहा ैहै। इस प्रस्ताव को सहमती विश्वविद्यालय की कार्य परिषद की बैठक में मिली। बीबीएयू के प्रवक्ता प्रो. कमल जायसवाल ने बताया कि काउंसिल की मीटिंग में चार नए कोर्सेज शुरू किए जाने का प्रस्ताव रखा गया। विश्वविद्यालय ग्रांट कमीशन के निर्देशों के तहत ही यह कोर्स शुरू किए जा रहे हैं।
बीबीएयू में अब अपने यहां कई नए कोर्स शुरू करने जा रहा है। जिसमें स्टूडेंट्स योग की पढ़ाई भी कर सकेंगे। विश्वविद्यालय में मंगलवार को हुई अकेडमिक काउंसिल की बैठक में डिप्लोमा इन योग कोर्स शुरू करने का फैसला लिया गया। इसके साथ ही विमिन स्टडीज में पीजी के साथ ही उर्दू और संस्कृत में भी डिप्लोमा कोर्स शुरू किए जाएगें। प्रवेश के लिए अप्लीकेशन फार्म की फीस 20 कोर्से की सीटें और करिकुलम कमिटी तय करेगी। उन्होंने बताया कि कोर्सेज में एडमिशन इसी सत्र से लिए जाएंगे।

लखनऊ-कानपुर रेलमार्ग पर 10 से 750 ट्रेनें हो सकती हैं रद्द
लखनऊ। कानपुर रेल मार्ग पर दस अप्रैल से करीब 750 ट्रेनें रद्द रहेंगी। इससे यात्रियों को काफी परेशानी होगी। उन्हें दिल्ली, कानपुर, अलीगढ़, इटावा आदि जगहों पर जाने के लिए बस या किसी अन्य साधन का सहारा लेना पढ़ेगा। कानपुर रेलमार्ग पर गंगा पुल की मरम्मत के कारण 10 अप्रैल से एक लाइन बंद की दी जाएगी। यह लगभग पैंतीस दिनों तक बंद रहेगा। 35 दिन के इस ब्लॉक के दौरान करीब 750 ट्रेनें रद्द किए जाने की संभावना है। लखनऊ.कानपुर रेलमार्ग पर मेगा ब्लाक से पहले सीनियर डीओएम जी साराह जयाल ने मंगलवार दोपहर को गंगा पुल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने काफी बारिकियों से एक-एक स्थान को देखा और चर्चा की। गंगा पुल काफी जर्जर हो गया है। मरम्मत कार्य के दौरान गंगा पुल के गर्डर और रेल लाइन को बदला जाएगा। इसमें सबसे अधिक दिक्कत कानपुर से लखनऊ के बीच सफर करने वाले दैनिक यात्रियों को होगी क्योंकि कानपुर से लखनऊ, बाराबंकी के बीच चलने वाली मेमू ट्रेनें सबसे अधिक निरस्त रहेंगी। इससे यात्रियों को अपने गंंतब्य तक पहुंचने के लिए बस या अन्य साधन का सहारा लेना पड़ेगा। ऐसे में उन्हें काफी दिक्कतें भी होंगी। मेगा ब्लॉक से पहले संरक्षा आयुक्त ने ब्लॉक को लेकर अपनी रिपोर्ट दे दी है। लखनऊ- कानपुर के बीच बना गंगा पुल काफी जर्जर हो चुका है। इसकी मरम्मत के लिए रेलवे प्रशासन काफी समय से तैयारी कर रहा है। अधिकारियों के मुताबिक 9 अप्रैल से मेगा ब्लॉक लिया जाएगा। गंगा पुल में लगे लकड़ी के गर्डर, रेल लाइन समेत पुल के कई हिस्सों में मरम्मत की जरूरत है। अधिकारियों का कहना है कि मरम्मत के दौरान कई पटरियां भी बदली जानी हैं। इसके लिए संरक्षा आयुक्त की अनुमति जरूरी होती है। गंगा पुल पर दो लाइनें हैं। इसलिए पहले एक लाइन बंद करके काम किया जाएगा, उसके बाद फिर इसी तरह दूसरी लाइन पर काम किया जाएगा।

Pin It