साले ने ली जीजा की जान, एसओ सहित  निलम्बित

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

चंदौली। जिले के सैयदराजा थाने में पुलिस हिरासत में 32 वर्षीय एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस मामले में प्रथम दृष्टया थानाध्यक्ष विनोद कुमार यादव सहित तीन पुलिस कर्मियों को कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है।
पुलिस के अनुसार, युवक को दहेज हत्या के मामले में हिरासत में लिया गया था। पुलिस ने बताया कि नगर पंचायत के अबुल कलाम नगर निवासी जाकिर हुसैन को दहेज हत्या के मामले में हिरासत में लिया गया था। उसे थाने में स्थित पुरूष बंदीगृह में रखा गया था। इस दौरान जाकिर हुसैन ने अपनी शर्ट के सहारे रौशनदान से फंदा लगाकर अपनी इहलीला समाप्त कर ली। पुलिस के अनुसार, जब पुलिस कर्मियों ने सलाखों के अंदर जाकिर को फंदे से लटकता देखा तो उनके होश उड़ गए। आनन-फानन में शव को फंदे से नीचे उतारा गया और शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया।
घटना की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम और एस.पी. मुनिराज जी के अलावा ए.एस.पी. जियालाल यादव सहित कई थानों की पुलिस सैयदराजा थाने पहुंच गई। जिलाधिकारी ने जहां घटना की मजिस्टे्रट जांच के आदेश दिए, वहीं एस.पी. ने प्रथम द्यष्टया कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में थानाध्यक्ष विनोद कुमार यादव के अलावा एक दीवान और पहरे पर तैनात सिपाही को निलंबित कर दिया।
सूत्रों के अनुसार, मृतक जाकिर हुसैन उच्च प्राथमिक विद्यालय बरंगा में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात था। उसका एक छोटा बच्चा भी है। मृतक के साले गौहर अंसारी ने अपने बहनोई समेत छह लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा सैयदराजा थाने में पंजीकृत कराया था।

Pin It