सारा की मां को सीएम ने दिया भरोसा, करायेंगे सीबीआई जांच

सारा की मौत को लेकर अमनमणि है शक के घेरे में
राज्यपाल के हस्तक्षेप के बाद दर्ज हुई थी एफआईआर
सीएम ने कहा कि पूरी तरह न्याय होगा

4Q1पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। संदिग्ध परिस्थतियों में हुई सारा की मौत के मामले में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज सारा की मां को आश्वस्त किया कि उनके साथ न्याय होगा। मुख्यमंत्री ने सारा की मां को सुरक्षा देने के निर्देश दिये और उनकी सीबीआई जांच की मांग मान ली। सारा की मां आज सुबह ही मुख्यमंत्री से उनके कार्यालय में मिली थी।
अमनमणि की पत्नी सारा की मार्ग दुर्घटना में मौत हो गयी थी। सारा की मां ने आरोप लगाया था कि उनकी बेटी की हत्या की गई है। यह हादसा तब हुआ था जब अमनमणि अपनी पत्नी के साथ लखनऊ से दिल्ली जा रहा था। फिरोजाबाद के निकट उसकी कार पलट गयी थी। अमनमणि का कहना था कि इस दुर्घटना में उसकी पत्नी की मौके पर ही मौत हो गयी। उधर सारा की मां का कहना था कि उसकी बेटी की निर्ममता से हत्या की गई है। उन्होंने कहा कि ऐसा कैसे हो सकता है कि जिस मार्ग दुर्घटना में उनकी बेटी की जान चली गयी हो उस दुर्घटना में अमनमणि को खरोच भी न आयी हो।
सारा की मां ने इस संबंध में एफआईआर दर्ज कराने के लिए एसएसपी से डीजीपी तक दौड़ लगायी मगर उसकी एफआईआर दर्ज न हो सकी। हताश सारा की मां इसके बाद राज्यपाल से मिली। राज्यपाल ने इस संबंध में मुख्यमंत्री को पत्र लिखा। राज्यपाल के सक्रिय होने के बाद पुलिस भी हरकत में आई और फिरोजाबाद में अमनमणि के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया।
मुकदमा दर्ज होने के बावजूद जिस तरह पुलिस दबाव में नजर आ रही थी। उससे सारा की मां को न्याय की उम्मीद नहीं बची थी। इसी कारण से सारा की मां आज सुबह मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से उनके कार्यालय में मिली। सारा की मां ने मुख्यमंत्री को विस्तार से इस पूरी घटना की जानकारी दी। उन्होंने सीएम से कहा कि पुलिस किसी भी सूरत में न्याय नहीं कर पायेगी।मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सारा की मां को भरोसा दिलाया। यूपी सरकार की तरफ से आज सीबीआई को खत भेजा जा रहा है।

सरोजनी नगर बनेगी नई तहसील

कैबिनेट में लिये गये कई महत्वपूर्ण फैसले
लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज सुबह कैबिनेट की मीटिंग में कई अहम फैसले लिए। मीटिंग में अनेक महत्वपूर्ण योजनाओं को मंजूरी मिली। राजधानीवासियों को सहूलियत देने के लिए सरोजनीनगर में नई तहसील बनाने के प्रस्ताव को कैबिनेट ने मंजूरी दी। लखनऊवासियों में इसको लेकर खुशी की लहर है। इसके अलावा इंस्पेक्टर, दरोगा और सिपाही तबादला नीति में संसोधन को भी मंजूरी मिल गई। इससे प्रदेश भर के पुलिसकर्मियों में खुशी का माहौल है।
बैठक में मुख्यमंत्री की कैबिनेट के वरिष्ठï मंत्री आजम खान, रघुराज प्रताप सिंह, बलराम यादव, अरविन्द सिंह गोप, गायत्री प्रजापति सहित मुख्य सचिव आलोक रंजन व डीजीपी जगमोहन यादव उपस्थित रहे।

कैबिनेट के अन्य महत्वपूर्ण फैसले
ड्ड इंस्पेक्टर, दारोगा और सिपाही तबादला नीति में संसोधन
ड्ड लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर कन्नौज में बनेगी मंडी
ड्ड रामपुर में कैमरी मण्डी के लिए सिंचाई विभाग देगा जमीन
ड्ड ‘इश्क के परिंदे’ और ‘मिस टनकपुर हाजिर हो’ फिल्म होगी टैक्स फ्री
ड्ड पीएसी अधीनस्थ सेवा नियमावली प्रख्यापन के प्रस्ताव को मंजूरी

Pin It