सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में अव्यवस्था देख भडक़े मंत्री

  • औचक निरीक्षण के दौरान मंत्री मेहरोत्रा से लोगों ने की शिकायत
  • पैसे लेने के आरोप में बाबू निलंबित, गैरहाजिर चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई के आदेश

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। मोहनलालगंज स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के औचक निरीक्षण पर पहुंचे मंत्री रविदास मेहरोत्रा अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्था देख भडक़ उठे। उन्होंने एक बाबू को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का निर्देश दिया। मंत्री ने जननी सुरक्षा योजना की धनराशि वितरित न करने पर नाराजगी जताई और तत्काल भुगतान का निर्देश दिया।
गुरुवार दोपहर मोहनलालगंज स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण करने पहुंचे मंत्री रविदास मेहरोत्रा से वहां की एएनएम मोनिका वर्मा ने शिकायत की कि अस्पताल में तैनात बाबू सन्तोष कुमार ने तबादला कराने के लिए 12 हजार रुपये लिये है, साथ ही और रुपयों की मांग कर रहा है। इस पर श्री मेहरोत्रा ने बाबू संतोष क ुमार से मौके पर पूछताछ की। बाबू उनके सवालों का जवाब नहीं दे सका। इस पर मंत्री ने कार्रवाई करते हुए उसे निलंबित करने का आदेश दिया। इसके बाद मंत्री खुजौली स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण करने पहुंचे। मंत्री को यहां पर खामियां ही खामियां मिली। इलाके के रहने वाले लोगों ने मंत्री को बताया कि पिछले दो सप्ताह से कोई चिकित्सक स्वास्थ्य केन्द्र पर नहीं आया है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डॉ. दिवाकर भारद्वाज भी पिछले कई दिनों से गायब बताये जा रहे हैं। इस पर मंत्री ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.एसएनएस यादव को कार्रवाई के निर्देश दिये।

Pin It