साइबर क्राइम में इंदिरानगर का ग्राफ सबसे ऊपर, दूसरे नंबर पर हजरतगंज

साइबर क्राइम में इंदिरानगर का ग्राफ सबसे ऊपर, दूसरे नंबर पर हजरतगंज

  • शिक्षित आबादी वाले इलाकों में ज्यादा हो रही है घटनाएं
  • फ्रॉड मामले में सरोजनीनगर व पीजीआई तीसरे नंबर पर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लॉकडाउन के चलते राजधानी लखनऊ में साइबर अपराधी सक्रिय हो गए है। वे अलग-अलग तरीकों से लोगों को अपने जाल में फंसा रहे हैं। आंकड़े बताते हैं कि शहर में साइबर फ्रॉड के सबसे ज्यादा मामले इंदिरा नगर और दूसरे नंबर पर हजरतगंज में है। ऐसा तब है जब डीसीपी उत्तरी की क्राइम टीम का हेड इंदिरानगर थाने के प्रभारी निरीक्षक को बनाया गया है। इस फ्रॉड मामले में सरोजनीनगर व पीजीआई तीसरे नंबर पर सामने आए है। जबकि इन थाना क्षेत्र में सबसे ज्यादा शिक्षित आबादी रहती है।
साइबर एक्सर्ट के मुताबिक यह चौकाने वाले आंकड़े के पीछे साइबर सुरक्षा के इंतजाम का इस्तेमाल न कर लापरवाही से खातों में लेनदेन या ऑन-लाइन शॉपिंग करना है। एटीएम क्लोनिंग व ऑन-लाइन शॉपिंग के सबसे ज्यादा केस शहर में सबसे ज्यादा केस खाते की डिटेल पूछ कर खाते से रकम उड़ाने या उससे ऑन-लाइन शॉपिंग के मामले आ रहे हैं। साइबर क्राइम में ठगी, धोखाधड़ी, धमकी, कार्ड क्लोनिंग, छेड़छाड़ और आपत्तिजनक कंटेट शेयर या किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के अपराध प्रमुख रूप से आते हैं, इसलिए ठगों से बचकर रहें।

किसी को भी बैंक एकाउंट का विवरण न दें

साइबर क्राइम सेल प्रभारी विवेक रंजन राय ने बताया कि लोगों की थोड़ी सी लापरवाही साइबर अपराधियों के वरदान बन जाती है। किसी भी व्यक्ति को अपने बैंक एकाउंट का विवरण कभी न दें। एटीएम पिन को बार-बार बदलते रहें और साइबर क्राइम होते ही पुलिस व बैंक को फौरन सूचित करें। लापरवाही आपकी मेहनत पर पानी फेर सकती है। स्मार्ट बनने के लिए लोग ऑनलाइन लेनदेन तो शुरू कर देते हैं, लेकिन उससे जुड़े सुरक्षा उपायों की अनदेखी करते है। ऐसे में वो साइबर क्राइम का शिकार हो जाते हैं।

कोई लिंक आए तो न करें क्लिक
साइबर ठग मोबाइल पर लिंक भेजकर, फोन पर खाते की डिटेल मांग कर और वेबसाइट हैक कर ठगी करते हैं। बैंक कभी फोन कर कोई जानकारी नहीं लेती। यदि ऐसा कुछ आपके मोबाइल पर आए तो उसे न ही क्लिक करें और न ही अपना बैंक डिटेल दें। शक होने पर बैंक या पुलिस को सूचित करें।

जनवरी से 15 जून 2020 तक शहर में हुए साइबर क्राइम के मामले

आलमबाग 47
अलीगंज 55
अमीनाबाद 18
आशियाना 67
बीकेटी 28
बंथरा 22
बाजार खाला 25
कैंट 37
चिनहट 63
चौक 30
गौतम पल्ली 05
गाजीपुर 62
गोसाईगंज 22
गुडंबा 50
हसनगंज 36
हजरतगंज 84
हुसैनगंज 23
इंदिरा नगर 89
इंटौजा 02
जानकीपुरम 43
काकोरी 07
कृष्णा नगर 44
महानगर 27
महिलाबाद 02
माल 02
मानक नगर 22
मडय़िांव 54
मोहनलालगंज 06
नगराम एक
नाका 14
पारा 22
पीजीआई 81
कैसरबाग 22
सआदतगंज 18
सरोजनी नगर 66
तालकटोरा 39
ठाकुरगंज 32
विभूतिखंड 38
विकास नगर 41
वजीरगंज 09

साइबर सेल लगातार ऐसे लोगों पर शिकंजा कसने के लिए प्रयास कर रहा है। फिर भी लोगों से अनुरोध है कि अपने से जुड़ी साइबर इन्फॉर्मेशन और सोशल मीडिया अकाउंट से संबंधित जानकारी किसी से साझा न करें। किसी पर शक है तो पुलिस को सूचित करें।

  • नीलाब्जा चौधरी, जेसीपी क्राइम एवं मुख्यालय

https://www.youtube.com/watch?v=fcwnRGibqHc

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *