सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से अपनी पंरपराओं को कायम रखना विशेष कला: सुरभि रंजन

सांस्कृतिक कार्यक्रमों से अपनी सभ्यता को जन-जन तक तक पहुंचाएं

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। आकांक्षा समिति की प्रदेश अध्यक्षा व उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव की पत्नी श्रीमती सुरभि रंजन ने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से अपनी धरोहर अवधी परम्पराओं को कायम रखना विशेष कला है। सांस्कृतिक कार्यक्रमों द्वारा अपनी सभ्यता को आम जन तक पहुंचाना एक सरल एवं सुगम रास्ता है। भारतीय अवधी समाज द्वारा ऐसे कार्यक्रम का आयोजन कर एकता का संदेश दिया है।
श्रीमती सुरभि रंजन भारतीय अवधी समाज के तत्वावधान में राय उमानाथ बली प्रेक्षागृह में ‘रिमझिम बरसे बदरिया’ कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि ऐसी कलाओं के माध्यम से युवा वर्ग को अपनी संस्कृति की अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त होती है। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों के तहत महिला कलाकारों ने अपने नृत्य एवं कला प्रस्तुति से दर्शकों का मन ही नहीं मोहा है, बल्कि समाज और परिवार में एकता का परिचय दिया है। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों के आयोजन से सामाजिक एकता एवं संस्कृति को बढ़ावा मिलता है। कार्यक्रम कर शुभारंभ श्रीमती सुरभि रंजन ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। श्रोताओं के अनुरोध पर उन्होंने ‘झूला धीरे से झुलाओ झूला बनवारी’ गीत गाकर दर्शकों का मन मोह लिया। इस अवसर पर अनेक लोग उपस्थित रहे।

Pin It