सर्जिकल स्ट्राइक के बाद लगा फस्र्ट डिवीजन पास हो गया: रक्षामंत्री

  • गोमतीनगर में आयोजित कार्यक्रम में पर्रिकर को किया गया सम्मानित

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने भारतीय सेना की सफल सर्जिकल स्ट्राइक को फस्र्ट डिवीजन पास होने वाले स्टूडेंट की तरह का एहसास बताया है। इसके साथ ही भारतीय सीमा के अंदर बार-बार आतंकियों के हमलों से सेना और जनता के बीच फैल रहे फ्रस्टेशन के माहौल को राष्ट्रीय एकता के लिए खरतनाक बताया है। उन्होंने जनता को विश्वास दिलाया कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अपनी सभी सभाओं में जनता की तरफ से मिले प्यार को सैनिकों के बीच पहुंचकर जरूर बतायेंगे। इससे निश्चित तौर पर सैनिकों को मनोबल ऊंचा होगा और वह देश की सरहदों पर कड़ी चौकसी बरतेंगे।
रक्षामंत्री गुरुवार को अमौसी एयरपोर्ट पहुंचे तो कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। उनके हाथों में तिरंगा थमाकर भारत माता की जय और जय जवान-जय किसान के नारे भी लगाये गये। इसके बाद सीएमएस गोमतीनगर में आयोजित एक कार्यक्रम में रक्षामंत्री को सम्मानित किया गया। इस दौरान उन्होंने कहा कि देश में एक फ्रस्ट्रेशन का माहौल बना था। आतंकवादी कहीं भी हमला करके चले जाते थे लेकिन कोई जवाब नहीं दिया जाता था। देश में यह सवाल उठ रहा था कि हमारी सेना कुछ कर नहीं सकती या उसे करने नहीं दिया जा रहा। हमने सेना को खुली छूट दी है। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद देश ऐसे माता-पिता की तरह महसूस कर रहा है जैसे कि सीबीएसई के एग्जाम में लगातार फेल होने के बीच स्टूडेंट फस्र्ट डिवीजन पास हो गया। उन्होंने कहा कि कहा गया कि पर्रिकर बहुत सीधे हैं, लेकिन मैं टेढ़े लोगों को पहचानता हूं। देश के लिए जहां टेढ़ा बनना है वहां यह भी करेंगे। पर्रिकर ने मीडिया पर भी चुटकी ली।

Pin It