सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत पेश करना सही नहीं है

उड़ी आर्मी कैंप पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने पीओके में घुस कर सर्जिकल स्ट्राइक की, जिसमें कई आतंकी शिविर और आतंकवादी मारे गये। हमले के बाद देश में सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर कुछ नेता सरकार से सबूत की मांग कर रहे हैं। विपक्ष की मांग के चलते सेना ने हमले के सबूत सौंप दिये हैं। ऐसी परिस्थितियों में क्या सर्जिकल स्ट्राइक का विडियो सार्वजनिक करना सही है? इस पर हमारी संवाददाता ऐश्वर्या गुप्ता ने जानी लखनऊवाइट्स की राय…capture

Pin It