सरकारी स्कूलों की छवि सुधारने पर जोर दे सरकार

आखिर क्या वजह है कि तमाम सुविधाएं दिये जाने के बाद भी सरकारी स्कूलों के प्रति लोगों की रुचि कम होती जा रही है। एक ओर जहां प्राइवेट स्कूलों में साल दर साल नामांकन के आंकड़ों में इजाफा हो रहा है, वहीं दूसरी ओर सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या निरंतर घटती जा रही है। इस पर हमारी संवाददाता ऐश्वर्या गुप्ता ने जानी लखनऊवाइट्स की राय।

Capture

Pin It