सरकारी अस्पतालों में बनेगा बेबी फ्रेंडली वातावरण

लखनऊ। सरकारी अस्पतालों में बेबी फ्रेंडली वातावरण बनाना अनिवार्य कर दिया गया है। इससे माताओं को अपने बच्चों को स्तनपान कराने का उचित स्थान मुहैया कराया जाएगा। इस संबंध में राष्ट्रीय स्वास्थ मिशन के निदेशक आलोक कुमार ने बताया किअब सरकारी अस्पतालों में बेबी फेंडली वातावरण बनाना अनिवार्य है। इससे माताएं अपने बच्चों को अस्पताल परिसर में भी स्तनपान करा सकेंगी। यह व्यवस्था जिन अस्पतालों में सबसे बेहतर होगी, उन अस्पतालों को पुरस्कृत किया जाएगा। गर्भवती महिलाओं और माताओं की समस्याओं का समाधान करने के लिए आशा को त्रैमासिक बैठक कराना होगा। इसके लिए उन्हें 100 रुपये प्रतिपूर्ति राशि दी जाएगी। उन्होंने बताया कि परिवार नियोजन सेवाओं का विस्तार होना है, इसलिए निजी चिकित्सकों की भागीदारी बढ़ाने के लिए हौसला साझेदारी वेब पोर्टल चलाया जा रहा है। इसके तहत 511 नर्सिंग होम पंजीकृत किये जा चुके हैं। परिवार नियोजन में पुरुष भागीदारी बढ़ाने के लिए प्रत्येक माह की 21 तारीख को जिला स्तर पर पुरुष नसबंदी कैम्प चलाये जा रहे हैं।

Pin It