सरकारी अस्पतालों की कड़ी होगी सुरक्षा-व्यवस्था

सिविल, बलरामपुर व केजीएमयू में जल्द लगेंगे कैमरे

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। राजधानी के सिविल, बलरामपुर व केजीएमयू की सुरक्षा-व्यवस्था अब तगड़ी होने जा रही है। केजीएमयू सहित इन अस्पतालों में जल्द ही सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेगें। सिविल अस्पताल मेंं सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम अंतिम चरण में है। वहीं बलरामपुर अस्पताल के नये सीएमएस डॉ. राजीव लोचन की ओर से पूरे अस्पताल में सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रस्ताव भेजा गया है।
नहीं रुक रही हैं चोरी की घटनायें
बलरामपुर अस्पताल में पिछले दो सालों से लगातर चेारी की घटनायें हो रही हैं। बाइक चोरियां तो आम हो गई हैं। वहीं वार्डों में वार्डब्वॉय व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी मरीजों के साथ अभद्रता करते हैं। अभी बीते दो हफ्ते पहले रात में एक वार्डब्वॉय ने एक महिला के साथ छेड़छाड़ की थी। उसके बाद वजीरगंज पुलिस ने उसको गिरफ्तार किया था। इसी तरह साल 2014 के दिसंबर महीने में अस्पताल के नेत्र विभाग में मरीजों से अवैध वसूली का मामला सामने आया था। बाइक चोरी की घटनायें यहां आम हो गई हैं। इन घटनाओं को देखते हुए अस्पताल के सीएमएस डॉ. राजीव लोचन ने पूरे अस्पताल में सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्णय लिया हैं। डॉ. लोचन का कहना है कि पिछले समय में बलरामपुर अस्पताल में चोरी की घटनाओं में तेजी से वृद्वि हुई है, जिससे असपताल की भी छवि खराब होती है। इन घटनाओं को रोकने के लिए पूरे असपताल में सीसीटीवी केमरे लगाये जायेगें।

केजीएमयू ने भेजा प्रस्ताव
केजीएमयू के ट्रॉमा सहित प्रशासनिक भवन में तो सीसीटीवी कैमरे लगे हें लेकिन सभी विभागों ओर न्यू ओपीडी बिल्डिंग में कैमरे न लगे होने से चोरी की घटनायेंं होती रहती हैं। न्यू ओपीडी से ही दलाल मरीजों को अपने जांल में फंसाते रहे हैं। इन समस्याओं को देखते हुए विवि प्रशासन ने पूरे केजीएमयू में सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रस्ताव भेजा है।

Pin It